गुनहगार खुद को पीड़ित साबित करने के लिए निकाल रहा राजनीतिक यात्रा : मोदी

0
134
file photo

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद ने यूपीए सरकार के रेल मंत्री रहते हुए रेलवे के होटलों को लीज पर देने के बदले फर्जी कंपनियों के जरिये करोड़ों की जमीन कौड़ियों के मोल पर हासिल की थी। लगभग एक अरब करोड़ रुपये मूल्य की ये सम्पत्ति पिछले साल सितम्बर में अस्थायी रूप से कुर्क की गई थी। अब उस संपत्ति को न्यायालय ने स्थायी रूप से जब्त कर लिया है। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि लालू प्रसाद, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव सहित लोग इस मामले चार्जशीटेड हैं। तेजस्वी यादव पिछले महीनों में इस बेनामी सम्पत्ति का बिंदुवार जवाब न मुख्यमंत्री को दे पाये, न आयकर विभाग को संतुष्ट कर पाये। जब यह सम्पत्ति हाथ से जाने वाली है, तब एक गुनहगार खुद को पीड़ित साबित करने के लिए राजनीतिक यात्रा निकाल रहा है। एनडीए सरकार बेनामी सम्पत्ति निवारण कानून को मजबूत बना दिया है। इस मामले में दोषी पाये जाने पर कारावास, सम्पत्ति के बाजार मूल्य का फीसद जुर्माना और चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य ठहराया जा सकता है। लालू प्रसाद ने बिहार का विकास तो ठप किया ही, सम्पत्ति की लिप्सा में अपने परिवार की दूसरी पीढी का भविष्य भी अंधकारमय बना दिया।

यह भी पढ़े  मछुआरों के लिए 186 करोड़ की योजना स्वीकृत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here