गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना पीएम का सपना : मंत्री

0
174

पटना :राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (उपेंद्र गुट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा निजी विद्यालय सेवा नहीं कमाई का जरिया बन गये हैं। सीबीएसई से संबंध किसी भी निजी विद्यालय के संबंध में कोई लिखित शिकायत करे, जांच में दोषी पाये जाने की कार्रवाई की जायेगी। निजी विद्यालयों की मनमानी और गड़बड़ी रोकने के लिए राज्य सरकार रेग्युलेटरी कमेटी गठित करे। केंद्र सरकार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए वचनबद्ध है। इसके लिए कई राज्यों में शैक्षणिक कार्य में लगे शिक्षकों को कोई दूसरी जिम्मेवारी नहीं दी जाती है। इसका परिणाम है कि मिड डे मील में शिक्षकों को नहीं लगाया जाता है। मिड डे मील में शिक्षकों के लगाये जाने से छात्रों की पढ़ाई पर असर पड़ रहा था। बिहार सरकार भी शिक्षकों से शैक्षणिक कार्य ही ले। मध्याह्न भोजन योजना की जिम्मेवारी दूसरे लोगों को दी जाये। पार्टी 15 अक्टूबर को गांधी मैदान में शिक्षा सुधार संकल्प महासम्मेलन करेगी। इसकी तैयारी पूरे राज्य में चल रही है। डिग्री लाओ नौकरी पाओ के तहत कुछ खराब शिक्षकों की भी नियुक्ति हो गयी है। इन शिक्षकों से राज्य सरकार शैक्षणिक कार्य लेना बंद करे।श्री कुशवाहा शनिवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मिड डे मील योजना से शिक्षकों को अलग कर दिया गया है। बिहार सरकार भी इस दिशा में कदम उठा रही है। इसके अध्ययन के लिए एक टीम भी गठित की गयी है। जो शीघ्र ही अन्य राज्यों का दौरा करेगी। उन्होंने कहा कि बिहार में पहले डिग्री लाओ और नौकरी पाओ की व्यवस्था थी ,लेकिन अब इसमें बदलाव की बात हो रही है, जो शिक्षा के क्षेत्र में एक शुभ संकेत है। श्री कुशवाहा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आज देश में सुधार और विकास के लिए कई कदम उठाये जा रहे हैं। देश बड़े परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है। खासकर शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए गंभीर प्रयास किये जा रहे हैं। करीब 27 वर्ष के बाद केंद्र और बिहार में एक ही गठबंधन की सरकार बनी है। दोनों ही सरकार मिलकर काम कर रही है और अब सुधार होना तय है। उन्होंने कहा कि बिहार में भी शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए अब कदम उठाये जा रहे हैं। मुख्यमत्री नीतीश कुमार ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को लेकर अधिकारियों के साथ कई बार बैठक की है और उनका यह मानना है कि शिक्षा के बिना विकास की बात बेमानी है। राज्य में शिक्षा की बेहतरी के लिए समाज के लोगों को भी आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा के रेयान स्कूल में छात्र ही हुई हत्या की जांच करायी गयी है। जांच रिपोर्ट आने के बाद विद्यालय की मान्यता भी समाप्त की जायेगी।श्री कुशवाहा ने कहा कि उनकी पार्टी की ओर से 15 अक्टूबर को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में शिक्षा सुधार संकल्प महासम्मेलन आयोजित किया गया है। इस महासम्मेलन के माध्यम से शिक्षा की बेहतरी का संकल्प लिया जायेगा। उन्होंने कांग्रेस की टूट पर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि जब से महागठबंधन की सरकार में कांग्रेस शामिल हुई थी। तब से ही प्रदेश अध्यक्ष को हटाने की मांग की रही थी। यह कैसी पार्टी को जो अब तक प्रदेश अध्यक्ष को नहीं हटा पाई है। संवाददाता सम्मेलन में कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष नागमणि, प्रधान महासचिव रामबिहारी सिंह, राष्ट्रीय महासचिव अफजल इमाम मलिक, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजेश यादव, प्रदेश महासचिव अनिल यादव आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़े  वित्‍त मंत्री अरुण जेटली सभी को गरीब बनाने पर तुले हैं: BJP नेता यशवंत सिन्‍हा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here