गुजरात में बिहारियों पर हमला कांग्रेस की साजिश:

0
49

स्वास्य मंत्री मंगल पांडेय ने गांव-देहात में ग्रामीणों की स्वास्य सुविधा के लिए सामुदायिक स्वास्य कार्यकर्ता की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया है। पटना में ग्रामीण चिकित्सा कल्याण विकास संस्थान की ओर से आयोजित सम्मान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मुकम्मल चिकित्सा सुविधा एवं परामर्श नहीं मिलने के कारण गांव के अस्वस्थ लोगों को ओझा-गुणी का चक्कर लगाना पड़ता है। ऐसे परिवेश में सामुदायिक स्वास्य कार्यकर्ताओं का रोल ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा दिलाने में काफी महत्व रखता है।श्री पांडेय ने कहा कि सन 2025 तक पूरे देश को यक्ष्मा मुक्त भारत का लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने निर्धारित किया है। यह राष्ट्रीय कार्यक्रम तभी सफलीभूत होगा जब ग्रामीण चिकित्सक मनोयोगपूर्वक इसमें सहायता करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का एक मात्र लक्ष्य है सबका साथ-सबका विकास। यह लक्ष्य तभी संभव होगा जब सभी वगरे का पूरा समर्थन राष्ट्रीय कार्यक्रम को मिलेगा। टीबी मुक्त भारत एक बड़ा कार्यक्रम है। इसलिए हम सभी को भी 2025 तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार को टीबी मुक्त बनाने का संकल्प लेना चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता मदन पासवान ने की। इस अवसर पर संस्थान के प्रदेश सचिव डॉ. सुरेन्द्र कुमार पासवान, उत्तर बिहार अध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार, डॉ. वीणा कुमारी,डॉ. रामसकल राम, डॉ. देवचंद्र भारती, डॉ. मनोज कुमार गुप्ता, डॉ. सुरेश कुमार महतो, डॉ. अरविंद कुमार, डॉ. रंजीत कुमार, डॉ.आनंद कुमार, डॉ. देवेन्द्र सिंह, डॉ. राम बहादुर गुप्ता एवं डॉ. सुमित कुमार सहित सैकड़ों सामुदायिक स्वास्य कार्यकर्ता उपस्थित थे। वहीं दूसरी ओर उन्होंने गुजरात में बिहारियों पर हुए हमले के लिए कांग्रेस को जिम्मेवार ठहराते हुए आम चुनाव में कांग्रेस से सावधान रहने को कहा। उन्होंने कहा कि एक तरफ कांग्रेस बिहार में अल्पेश ठाकोर को राज्य का सह प्रभारी बनाती है और दूसरी ओर अल्पेश ठाकोर के लोग गुजरात में बिहारियों पर जुल्म ढाह रहे हैं।

यह भी पढ़े  दूसरी कक्षा की छात्रा से स्कूल में छेड़खानी,आरोपित सफाईकर्मी गिरफ्तार,सांसद पप्पू यादव पहुंचे स्कूल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here