गुजरात की तरह बिहार में भी पूरी तरह बिजली से होगी सिंचाई : सुशील मोदी

0
278
SK MEMORIAL ME KRISHI VIKASH SAMMELAN ME RADHA MOHAN SINGH AND SHUSHEEL KUMAR MODI PREM KUMAR AND NAND KISHORE YADAV KO SAMMANIT KERTE

राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि गुजरात की तरह ही बिहार में सिंचाई की पूरी व्यवस्था को बिजली का आधार दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी दो से तीन प्रतिशत ही बिजली के मार्फत सिंचाई होती है जबकि गुजरात में पूर्णत: सिंचाई बिजली पर आधारित है। श्री मोदी आज श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित किसान सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बिजली से सिंचाई सस्ती होती है जबकि डीजल से सिंचाई करने पर लागत बढ़ जाती है। इसके लिए बिहार में भी तैयारी हो रही है। अलग कृषि फीडर बनाया जा रहा है। किसानों के हितकारी निर्णय लेने में एनडीए सरकार का दूसरा कोई सानी नहीं है। कृषि रोड मैप के जरिये कृषि विकास का पैमाना तय कर बिहार ने देश के सामने एक मिसाल पेश की। उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 में पहला , वर्ष 2008 में दूसरा और 2017 में तीसरा रोड मैप जारी बिहार सरकार ने किसानों केंिंहतेषी बनने का जो संकल्प लिया था उसे पूरा करने में तत्परता दिखाती रही है। राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पहले किसानों को खाद के लिए मारा-मारी करनी पड़ती थी। कालाबाजारियें का तब साम्राज्य था। लेकिन केन्द्र सरकार के द्वारा नीम कोटेड यूरिया करने के एक फैसले ने किसानों के जीवन में क्रांति ला दी। खाद के कालाबाजारियों पर एक तरह से लगाम लगी ही साथ ही अन्य उद्योगों में जो यूरिया का इस्तेमाल होता था वह भी बंद हो गया। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं कालाबाजारी रोकने के लिए पॉश मशीन लगाने के प्रति सरकार दृढ़ दिखी। लगभग 24362 पॉश मशीन लगायी जा रही हैं। जहां आधार कार्ड दिखा कर खाद लेना होगा। श्री मोदी ने कहा कि इस सरकार ने बंटाइदारों की भी मुश्किले आसान कर दी हैं। उन्हें भी डीजल अनुदान फसल बीमा का लाभ मिलेगा। बस उसे लीज एग्रीमेन्ट दिखाना होगा। किसानों के बीच फैले भ्रम का भी समाधान बताते कहा कि लीज कर देने से जमीन बंटाइदारों की नहीं हो जाएगी। मालिक किसान ही रहेंगे।

यह भी पढ़े  कांग्रेस ने गांधी व शास्त्री को श्रद्धा से किया याद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here