गिरिराज सिंह की नाराजगी कही बीजेपी की मुसीबत न बन जाय

0
17

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की नाराजगी बिहार में बीजेपी के लिए फजीहत का कारण बनती जा रही है। अपनी सीट बदले जाने से नाराज गिरिराज सिंह बेगूसराय से चुनाव लड़ने को कतई तैयार नहीं है। गिरिराज सिंह का कहना है कि जब किसी भी केंद्रीय मंत्री की सीट नहीं बदली गई तो उनके साथ पार्टी ऐसा क्‍यों कर रही है। उन्‍होंने कहा कि यदि ऐसा करना भी था तो उन्‍हें विश्‍वास में लेना चाहिए था। उन्होंने बिहार बीजेपी के प्रभारी भूपेंद्र यादव और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय को नवादा सीट बदलने के लिए दोषी ठहराया. सूत्रों ने कहा कि गिरिराज सिंह को बीजेपी के पांच बड़े नेताओं ने मनाने की कोशिश की लेकिन सभी कोशिशें नाकाम हो चुकी है.

बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में गिरिराज सिंह नवादा सीट से जीतकर संसद पहुंचे थे। लेकिन इस बार एनडीए गठबंधन के फॉर्मूले के तहत नवादा की सीट एलजेपी के खाते में चली गई है। ऐसे में पार्टी ने गिरिराज सिंह की सीट को बदलकर बेगूसराय से उन्‍हें टिकट दी गई है। लेकिन गिरिराज सिंह बेगूसराय से लड़ने के लिए राजी नहीं है। बताया जाता है कि गिरिराज सिंह सोमवार को दिल्ली में केंद्रीय नेताओं से मिल कर लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की बात कही है. वहीं, भाजपा नेता उन्हें मनाने में जुट गये हैं. गिरिराज सिंह ने भाजपा और जदयू पर साजिश करने का भी आरोप लगाया है.

यह भी पढ़े  फुलवारीशरीफ में शांति के प्रयास, आइजी, डीआइजी, डीएम, एसपी लगे रहे शांति बहाली में

बेगूसराय सीट पर लेफ्ट पार्टी की ओर से कन्‍हैया कुमार को खड़ा करने से इस सीट पर मुकाबला और पेचीदा हो गया है। वहीं दूसरी ओर बेगूसराय सीट से टिकट देना अब बीजेपी के लिए भी गले की हड्डी बनती जा रही है। गिरिराज सिंह की नाराजगी पार्टी हाइकमान से भी है। गिरिराज सिंह के अनुसार सीट में बदलाव को लेकर उन्‍हें पार्टी ने विश्‍वास में नहीं लिया और सीधे अपना फैसला सुना दिया।

राजधानी पटना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संकल्प रैली में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह शामिल नहीं हुए थे. बाद में उन्होंने बताया की बीमार होने के कारण चिकित्सकों ने उन्हें बेड रेस्ट की सलाह दी है. रैली में शामिल नहीं होने के कारण वह विपक्षी दलों के निशाने पर आ गये थे. संकल्प रैली को लेकर भाजपा के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने कहा था कि ‘जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संकल्प रैली में नहीं आया, समझो वो देशद्रोही है. साथ ही कहा था कि ‘तीन मार्च की संकल्प रैली से पता लग जायेगा कि कौन-कौन पाकिस्तान के साथ है.’

यह भी पढ़े  भाकपा निकालेगी जन जागरण जीप जत्था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here