गया गैंगरेप : दूसरे दिन भी बंद रहा बाजार ,घटनास्थल से मिले अहम सुराग, 20 लोगों को हिरासत में

0
80

बिहार में गया जिले के कोंच थाना क्षेत्र के सोनडीहा में मां-बेटी के साथ सामूहिक हुए दुष्कर्म की वारदात के अनुसंधान के दौरान पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लगे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक छानबीन के क्रम में पुलिस को घटनास्थल से खून में सनी मिट्टी के साथ ही वहां से एक डायरी भी बरामद की गयी है. बताया जा रहा है कि पुलिस को डायरी से महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं. एफएसएल की तीन सदस्यीय टीम सोनडीहा गांव के समीप खेत-खलिहान में टोह ले रही है. घटनास्थल से कपड़े का टुकड़ा, हस्तलिखित कागजात, खून में सनी मिट्टी आदि मिली है. इन साक्ष्यों को जांच के लिए पटना भेजा जा रहा है. साक्ष्यों से सामूहिक दुष्कर्म के संकेत मिल रहे हैं. घटनास्थल से मिली एक डायरी में कुछ मोबाइल नंबर, नाम व पता भी लिखा है, इसकी पड़ताल की जा रही है.

इस बीच शनिवार की देर रात पुलिस ने परैया के कमलदह गांव में छापेमारी कर करीब 20 संदिग्‍धों को हिरासत में लिया है, जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही ही है. सूचना के मुताबिक हिरासत में लिये गये सभी संदिग्धों की उम्र 20-25 साल बतायी जा रही है. हालांकि, पुलिस की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गयी है. दरअसल, पुलिस नहीं चाहती है कि बात सार्वजनिक होने से जांच प्रभावित हो.

यह भी पढ़े  भ्रष्टाचार की राजनीति की आयु कम होती है : रामविलास

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने घटना के बाद इस सिलसिले में तीन लोगों को गिरफ्तार की है. गिरफ्तार लोगों से पूछताछ के आधार पर ही पुलिस आगे जांच करते हुए कमलदह गांव में छापेमारी की. गिरफ्तार युवक बालिग हैं या नाबालिग, इसकी पुष्टि के लिए उनकी मेडिकल जांच करायी गयी है. रिपोर्ट आने के बाद ही उनके बालिग या नाबालिग की पुष्टि हो सकेगी. इसके साथ ही अनुसंधान प्रभावित नहीं हो, इसलिए कोंच थाना की अस्थायी शाखा थाना गुरारू में चल रही है, जहां पुलिस पदाधिकारी डटे हुए हैं.

क्या है मामला
गया के गुरारू-अहियापुर स्टेट हाईवे 69 से जुड़ने वाली कोंच थाना क्षेत्र के सोनडीहा गांव के समीप बुधवार की रात करीब नौ बजे एक महिला व उसकी बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया था. महिला अपने पति व बेटी के साथ गुरारू से बाइक से गांव जा रही थी. इसी दौरान पहले से उक्त रास्ते पर घात लगाये करीब एक दर्जन अपराधियों ने बाइक रोककर पहले लूटपाट की, उसके बाद महिला और उसकी नाबालिग पुत्री के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया था.

यह भी पढ़े  जनता को अवगत कराएं केंद्र सरकार की योजनाओं से : राय

दूसरे दिन भी बंद रहा बाजार , गुरारू : बुधवार की रात कोंच थाना क्षेत्र के गुरारू-अहियापुर स्टेट हाईवे 69 से जुड़ी ग्रामीण सड़क पर पति के साथ मोटरसाइकिल से अपने गांव जा रही एक महिला व नाबालिग पुत्री के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना केविरोध में दूसरे दिन शनिवार को भी गुरारू बाजार बंद रहा। बाजार में लगातार दूसरे दिन सन्नाटा पसरा रहा। बाजार बंद का नेतृत्व जन अधिकार पार्टी की प्रखंड ईकाई कर रही है। बंद को लेकर जाप के जिलाध्यक्ष भवानी सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ता सुबह से ही सड़क पर उतर गए। इस वक्त तक खुल चुकी छिटपुट दुकानों को कार्यकर्ताओं ने बंद कराया। सड़कों पर चल रहे वाहन को रूकवाया।

सामूहिक दुष्कर्म कांड में तीन गिरफ्तारी : एसएसपी

सामूहिक दुष्कर्म कांड में अब तक तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया जा चुका है। एसएसपी राजीव मिश्र ने शनिवार को बताया कि तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई है। पहले गौरव व शिवम की गिरफ्तारी हुई थी। इन दोनों ने दीपक कुमार का नाम बताया था। इस कारण उसे गिरफ्तार किया गया है। इन तीनों की मेडिकल जांच कराई गई है। जांच के बाद तीनों को शनिवार की शाम न्यायिक पदाधिकारी के समक्ष पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया।एसएसपी राजीव मिश्र

यह भी पढ़े  वाम महिला संगठनों ने सीएम व डिप्टी सीएम से मांगा इस्तीफा

राजद नेताओं की गिरफ्तारी की मांग :कारी नगर भाजपा ने मगध मेडिकल कॉलेज में राजद नेताओं द्वारा दुष्कर्म पीड़िता की पहचान उजागर किए जाने की निंदा की है। नगर अध्यक्ष रमेश कुमार ने शनिवार को कहा कि राजद नेताओं के हाव भाव और आचरण में कहीं संवेदना का भाव नहीं दिखा, बल्कि पुलिस सुरक्षा में रही पीड़िता को जबरन गाड़ी से उतारकर फोटो खिंचवाने का निंदनीय कार्य किया। साथ ही पीड़ित परिवार की सुरक्षा की भी मांग की गई। मांग करने वालों में विनोद कुमार, संजय कुमार गुप्ता, सुधीर टूटू, रंजीत कुमार, संतोष पांडेय, अभिषेक वर्मा, वेंकटेश कुमार, रणधीर कुमार, गुड्डू पांडेय आदि हैं।

पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग : भाजपा दक्षिणी पूर्वी मंडल के महामंत्री सुनील कुमार सिंह के आवास पर शनिवार को बैठक हुई। जिसमें सामूहिक दुष्कर्म की घटना की निंदा करते हुए दोषियों को फांसी की सजा व पीड़ित परिवार को 50 लाख मुआवजा देने की मांग की गई। बैठक में अनिल सिंह, राजेन्द्र गुप्ता, राजकुमार केशरी आदि शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here