क्लाइमेट स्मार्ट एग्रीकल्चर इन बिहार-ग्लोबल नॉलेज फॉर लोकल सॉल्यूशन के महानिदेशक ने मुख्यमंत्री से की मुलकात

0
225
बोरलॉग इन्स्टीट्यूट फॉर साउथ एशिया के महानिदेशक प्रो0 (डॉ0) मार्टिन जे0 क्रॉफ एवं अन्य सदस्यगणों से पटना में मुलाकात करते हुए।

बोरलॉग इंस्टीच्यूट फॉर साउथ एशिया ने जलवायु परिवर्तन को केंद्र में रख बिहार के लिए एक उपयुक्त फसल चक्र तथा तकनीक को विकसित किया है। इस तकनीक का अभी पूसा फार्म तथा आसपास के कुछ किसानों के खेतों पर प्रयोग हो रहा है। जलवायु परिवर्तन के दुष्परिणाम और खाद्य सुरक्षा को ध्यान में रख बोरलॉग इंस्टीच्यूट फॉर साउथ एशिया, पूसा, बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर, डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय विश्वविद्यालय, पूसा एवं पूर्वी क्षेत्र के लिए भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के वैज्ञानिकों ने 224 करोड़ रुपए की तात्कालिक व दूरगामी तकनीक के विकास एवं प्रसार की योजना कृषि विभाग को सौंपी है। इसे क्लाइमेट स्मार्ट एग्रीकल्चर इन बिहार-ग्लोबल नॉलेज फॉर लोकल सॉल्यूशन का नाम दिया गया है। इस संदर्भ में मंगलवार को देर शाम बोरलॉग इंस्टीच्यूट फॉर साउथ एशिया एवं इंटरनेशनल मेज एंड व्हीट इंप्रूवमेंट सेंटर के महानिदेशक प्रो. मार्टिन जे क्रॉफ ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भेंट की। उन्हें संस्थान के मुख्यालय मैक्सिको आने का भी निमंत्रण दिया।
फरवरी 2016 में प्रो. क्रॉफ पहली बार मुख्यमंत्री से मिले थे। मुख्यमंत्री से यह उनकी दूसरी मुलाकात थी। मुख्यमंत्री ने मार्च 2016 में पूसा स्थित बोरलॉग इंस्टीच्यूट फॉर साउथ एशिया के फार्म का निरीक्षण किया था। उस दौरान उन्होंने यह कहा था कि बोरलॉग इंस्टीच्यूट जलवायु परिवर्तन का सामना करने के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करे। मुख्यमंत्री के उस निर्देश के तहत ही बोरलॉग ने जलवायु परिवर्तन में उपयुक्त फसल चक्र तथा तकनीक को विकसित किया है। प्रो.क्रॉफ से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सूखा, टर्मिनल हीट, जलवायु परिवर्तन आदि को ध्यान में रखकर फसल प्रणाली, क्षेत्रवार नए फसल चक्र को भी तैयार किया जाए। किसानों को पता चल सके कि कौन-कौन सी फसल कब उगानी है। उन्हें बीज भी उपलब्ध हो सके। मुख्यमंत्री ने यह कहा कि किसानों को इसकी जानकारी कृषि विज्ञान केंद्र के माध्यम से उनके खेतों पर ही दिया जाए। उन्होंने यह भी आग्रह किया कि बोरलॉग इंस्टीच्यूट फॉर साउथ एशिया को बिहार में और बड़े स्तर पर विकसित किया जाए।1मुलाकात के दौरान प्रो. क्रॉफ की धर्मपत्नी नायंकी नामेस्मा, कई कृषि विज्ञानी और मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़े  नए भारत के निर्माण के लिए है संकल्प रैली : राजग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here