कोलकाता पुलिस कमिश्नर के यहाँ CBI के छापे से भड़कीं ममता, संवेधानिक संकट

0
95

कोलकाता में इस वक्त सीबीआई दफ्तर के बाहर हाई वोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामा हो रहा है. कोलकाता पुलिस ने सीबीआई ऑफिस को अपने कब्जे में ले लिया है. कोलकाता के सीजीओ कॉमपलेक्स में सीबीआई का ऑफिस स्थित है. इस पूरे परिसर को कोलकाता की बिधाननगर पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है. सीबीआई के पांच अधिकारियों को कोलकाता पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि कुछ देर बाद उन्हें रात में ही छोड़ दिया गया.

ममता बनर्जी रात में ही मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पूरा देश मोदी-शाह से परेशान है. देश में इस समय इमरजेंसी से भी बुरे हालात हैं. ममता ने कहा कि मैं मोदी सरकार के इस रवैये पर अभी धरने पर बैठूंगी. ममता बनर्जी के जाने के बाद पुलिस कमिश्नर अपने घर से निकले और मीडिया के सामने आए. उन्होंने कहा कि वे इस बारे में कल बात करेंगे. इतना कहकर वे लौट गए.

इस बीच कोलकाता पुलिस सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर पंकज श्रीवास्तव को गिरफ्तार करने के लिए उनके घर रवाना हो गई है. सीबीआई के सूत्रों का कहना है कि कमिश्नर के घर जरूरी डॉक्यूमेंट को नष्ट किया जा सकता है. बताया जा रहा कि सीबीआई अब राज्यपाल से इस स्थिति से निपटने की गुहार लगा सकती है.

यह भी पढ़े  हर पंचायतो में "लालू सन्देश चौपाल " का आयोजन

दरअसल पश्चिम बंगाल के चर्चित सारदा चिटफंड मामले की जांच के लपेटे में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी आ गए हैं. सीबीआई की एक टीम राजीव कुमार से पूछताछ करने के लिए उनके घर पहुंची थी. लेकिन उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया.  मौके पर कोलकाता पुलिस के दो डिप्टी कमिश्नर मौजूद थे. कोलकाता पुलिस के अधिकारी सीबीआई की टीम से कोर्ट का वारंट देखने की मांग कर रहे थे. सीबीआई के अधिकारी जब पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर जाने की कोशिश कर रहे थे उस वक्त उनकी वहां मौजूद पुलिसकर्मियों के साथ हाथापाई भी हुई.

इसके बाद सीबीआई टीम शेक्सपीयर सारनी पहुंच गई  है. कोलकाता के कमिश्नर का घर इसी थाने के तहत पड़ता है.  इस वक्त पुलिस कमिश्नर के घर को कोलकाता पुलिस ने घेरकर रखा है. आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहीं ममता बनर्जी पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंची हैं. राजीव कुमार इस वक्त अपने घर में ही हैं.

सीबीआई सूत्रों के मुताबिक सीबीआई टीम पुलिस कमिश्नर से पूछताछ करना चाहती थी, लेकिन उन्हें पुलिस कमिश्नर के घर तैनात गार्ड्स ने रोक दिया. सीबीआई का कहना है कि इस मामले में जांच की प्रक्रिया जारी है और राजीव कुमार से पूछताछ अहम है. सूत्रों ने बताया कि इससे पहले सीबीआई द्वारा नोटिस दिए जाने के बावजूद पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार जांच में शामिल नहीं हुए थे.

यह भी पढ़े  मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा आज से पटना जिले में 74 परीक्षा केंद्र, चार मॉडल

सीबीआई का ये एक्शन ऐसे वक्त में हुआ है जब कोलकाता पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया था कि पुलिस कमिश्नर सीबीआई जांच के दायरे में हैं. यहां तक कोलकाता पुलिस ने ऐसी खबरें चलाने को लेकर मीडिया के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी भी दी थी.

बता दें कि ये राजनीतिक रूप से बेहद संवेदनशील मामला है. शनिवार को जब मीडिया में खबर आई कि चिटफंड घोटाले के मामले में सीबीआई को कोलकाता पुलिस कमिश्नर की तलाश है तो इस मामले में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी कूद पड़ीं.

पुलिस कमिश्नर की ईमानदारी सवालों से परे- ममता

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा कि कोलकाता के पुलिस कमिश्नर दुनिया के सबसे अच्छे ऑफिसर हैं. ममता ने ट्वीट किया, “उनकी ईमानदारी और बहादुरी सवालों से परे है, वह दिन रात काम कर रहे हैं और वह हाल ही में एक दिन की छुट्टी पर थे.”

यह भी पढ़े  तीन साल में खुलेंगे 13 मेडिकल कॉलेज :मंगल पांडेय

बीजेपी नेतृत्व पर भड़कते हुए ममता ने कहा कि बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व घटिया किस्म की बदले की राजनीति कर रहा है, ना सिर्फ राजनीतिक पार्टियां उनके निशाने पर है बल्कि वे लोग पुलिस को भी टारगेट कर रहे हैं इस तरह वे पूरी संस्था को बर्बाद करना चाहते हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि हम इसकी निंदा करते हैं.

क्या है सारदा चिटफंड

साल 2013 में देश की सुर्खियों में आए सारदा घोटाले में 10 हजार करोड़ रुपये की जालसाजी का आरोप है. जिसके मुताबिक सारदा चिटफंड ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर सुदीप्त सेन ने कई स्कीमों के जरिए बंगाल और उड़िसा के करीब 14 लाख निवेशकों से पैसा जुटाया और उन्हें ठगा. ईडी अब तक सारदा की छह संपत्तियों की कुर्की कर चुका है, जिसकी कीमत 500 करोड़ रुपये है. एक्टर से राजनीतिज्ञ बने तृणमूल कांग्रेस के सांसद मिथुन चक्रवर्ती ब्रांड एंबेस्डर के तौर पर सारदा कंपनी से लिए गए 1.20 करोड़ रुपये पहले ही ईडी को सौंप चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here