कोर्ट ने सीबीआई की याचिका की मंजूर, चिदंबरम को 26 अगस्त तक भेजा रिमांड पर

0
31

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को सीबीआई ने दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया. बुधवार सीबीआई ने पूर्व मंत्री को उनके घर से गिरफ्तार किया था. जिसके बाद गुरुवार को सीबीआई हेडक्वार्टर में उनसे करीब 3 घंटे तक पूछताछ की गई. वहीं कोर्ट में पी. चिदंबरम के बचाव में कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने अपनी दलीलें भी रखीं. हालांकि कोर्ट ने 26 अगस्त तक पी. चिदंबरम को सीबीआई रिमांड में भेज दिया है.

फैसले को मंजूरी देने वाले को आरोपी बनाया गया: सिंघवी

चिदंबरम के बचाव में सिंघवी ने दलील देते हुए कहा कि इस पूरे मामले में सीबीआई का रवैया ही गलत है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सीबीआई इतनी परेशान क्यों है? उन्होंने कहा कि सीबीआई ने रिमांड की मांग की है लेकिन आरोप क्या है, इसे नहीं बताया. इस केस में और किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. FIPB के 6 आरोपी अभी तक गिरफ्तार नहीं हुए हैं. उन्होंने कहा कि फैसले को मंजूरी देने वाले को आरोपी बनाया गया है.

CBI का पूरा मामला इंद्राणी मुखर्जी के बयान पर आधारित: सिंघवी

पी. चिदंबरम के केस में अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट में कहा कि सीबीआई का पूरा मामला इंद्राणी मुखर्जी के सबूतों और केस डायरी पर आधारित है. उन्होंने कहा कि चिदंबरम को सिर्फ एक अप्रूवर के बयान पर गिरफ्तार किया गया है. अप्रूवर का बयान स्टेटस होता है, सबूत नहीं.

हमें मालूम है कि हिरासत में लेने के बाद वे क्या करेंगे: कपिल सिब्बल

कपिल सिब्बल ने जांच एजेंसियों को लेकर कहा- हमें मालूम है कि हिरासत में लेने के बाद वे क्या करेंगे. वे अपनी बात हमारे मुवक्किल के मुंह से कहलवाएंगे. बीती रात को भी इनको सोने नहीं दिया. सुबह 8 बजे से वे पूछताछ के लिए तैयार थे, लेकिन सीबीआई ने 11 बजे पूछताछ शुरू की. 12 सवाल पूछे और 6 के जवाब दिए गए. कोर्ट को सवाल करना चाहिए कि आखिर पी. चिदंबरम से क्या सवाल पूछे गए.
पी. चिदंबरम के मामले पर कपिल सिब्बल ने कहा कि कार्ति चिदंबरम को नियमित बेल मिलती रही है. भास्कर रमन को अग्रिम जमानत मिली. इन दोनों को ही सीबीआई ने कभी चैलेंज नहीं किया. दिल्ली हाईकोर्ट ने इन दोनों को जमानत दे रखी है. वहीं सिब्बल ने जमानत आदेश की प्रति अदालत को भी सौंपी.
पी. चिदंबरम की तरफ से सीबीआई को कहा गया था कि उन्हें सुबह गिरफ्तार करें. आज सुबह चिदंबरम से सिर्फ 12 सवाल पूछे गए, रात को कोई सवाल नहीं पूछा गया. कपिल सिब्बल की तरफ से कहा गया कि जो आरोप हैं वो कार्ति चिदंबरम पर थे, पी. चिदंबरम पर नहीं हैं. और कार्ति भी अभी बेल पर हैं, ऐसे में पी. चिदंबरम को भी जमानत दीजिए. क्या सीबीआई ने अभी तक चिदंबरम से पेमेंट को लेकर कोई सवाल पूछा है, सीबीआई उनपर गलत आरोप लगा रही है.

कपिल सिब्बल ने किया पांच दिन की हिरासत का विरोध

पी. चिदंबरम की तरफ से दलील रखते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि इस मामले में कार्ति चिदंबरम आरोपी हैं, जिन्हें दिल्ली हाईकोर्ट ने बेल दी है. सुप्रीम कोर्ट ने भी जमानत देने से इनकार नहीं किया. कपिल सिब्बल ने कहा कि केस के अन्य आरोपियों को जमानत मिल गई है, ऐसे में इन्हें भी जमानत मिलनी चाहिए. कपिल सिब्बल ने कोर्ट को बताया कि इस डील को जिस FIPB के बोर्ड ने मंजूरी दी थी, उसमें 6 सेक्रेटरी केंद्र सरकार के थे उनमें से कुछ आरबीआई गवर्नर बन गए हैं, नीति आयोग के चेयरमैन भी बने हैं. लेकिन उनको तो कभी भी गिरफ्तार नहीं किया गया. उन्होंने कहा कि हम सभी रात को चिदंबरम के साथ थे, हमें बताया गया कि सीबीआई उन्हें कस्टडी में लेना चाहती है.

कोर्ट में बोली CBI- चिदंबरम ने किया पद का दुरुपयोग, 5 दिन की मांगी रिमांड

सीबीआई की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता दलील कर रहे हैं. उन्होंने इस दौरान बताया कि INX मीडिया ने गलत तरीके से FDI वसूल की है, जो कि FIPB के नियमों का उल्लंघन है. चिदंबरम की वजह से INX मीडिया को गलत तरीके से फायदा पहुंचा, जिसके बाद कंपनी ने दूसरी कंपनियों को भी पैसा दिया है. कोर्ट में सीबीआई की तरफ से बताया गया कि लगभग 5 मिलियन डॉलर कार्ति चिदंबरम से जुड़ी कंपनियों को दिया गया. सीबीआई की तरफ से आरोप लगाया गया कि पी. चिदंबरम ने पद का दुरुपयोग किया. तुषार मेहता ने अदालत से कहा कि किसी व्यक्ति का चुप रहना उसका अधिकार है, लेकिन जानबूझ कर सवालों को टालना गलत है. उन्होंने कहा कि जांच को आगे बढ़ाने के लिए चिदंबरम की कस्टडी जरूरी है.

कठघरे में खड़े हुए पी. चिदंबरम…

सीबीआई ने पी. चिदंबरम को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश कर दिया है. चिदंबरम को कठघरे में खड़ा किया गया है. वहां खड़े होने के बाद उन्होंने कोर्ट रूम के छोटा होने पर हैरानी जताई. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि उन्हें लगा कि अदालत थोड़ी बड़ी होगी.
यह भी पढ़े  महागठबंधन में समन्वय की कमी से हुई हार : कांग्रेस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here