कैंसर से हर साल 75 लाख लोगों की मौत

0
74

आईजीआईएमएस की ओर से ‘‘विश्व कैंसर दिवस’ पर आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे देश के कई नामचीन कैंसर विशेषज्ञों ने हाल के दिनों में कैसर के इलाज में आए बदलाव,आधुनिकीकरण और उसके परिणामों पर अपना व्याख्यान दिया। ‘‘विश्व कैंसर दिवस’ को पूरे विश्व में एक ही दिन मनाया जाता है ताकि लाखों लोगों को इसकी चपेट में आने से रोका जा सके। लोगों के बीच कैंसर के प्रति जागरूकता व शिक्षा बढ़ायी जा सके। इस मौके पर टाटा मेमोरियल हॉस्पीटल, मुंबई से पहुंचे मेडिकल आंकोलॉजिस्ट डॉ. कुमार प्रभाष ने कीमोथेरेपी और डॉ. अमिता महेश्वरी ने गायनी ओंकोलॉजिस्ट से संबंधित अत्याधुनिक इलाज के बारे में जानकारी उपलब्ध करायी। राम मनोहर लोहिया हॉस्पीटल से पहुंचे अजीत गांधी ने कैंसर मरीजों के इलाज में विकिरण चिकित्सा के क्षेत्र में आए बदलाव व आधुनिकीकरण के बारे में र्चचा की। टाटा मेमोरियल सेंटर,कोलकाता से पहुंचे डॉ राजीव शरण और स्टर्लिग हॉस्पीटल,गुजरात से पहुंचे डॉ मुकुल त्रिवेदी ने आधुनिक चिकित्सा जगत में कैंसर के इलाज में शल्य चिकित्सा की महता पर प्रकाश डाला। इस मौके पर वक्ताओं ने आमलोगों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का जबाव भी दिया। इस मौके पर आईजीआईएमएस के निदेशक डॉ. एनआर विास, एम्स(पटना) के निदेशक डॉ. पीके सिंह, महावीर कैंसर संस्थान के निदेशक डॉ. बी. सान्याल, आईजीआईएमएस के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ.(प्रो.) मनीष मंडल, डॉ. राजीव रंजन प्रसाद, डॉ. राजेश कुमार सिंह, डॉ. श्रृचा माध्वी, डॉ.े श्रद्धा राज समेत कई गणमान्य चिकित्सक और आमजन मौजूद थे।
 दुनिया भर में हर साल लगभग 75 लाख लोग की जान कैंसर के कारण जा रही है। इनमें से 40 लाख लोग समय से पहले (30-69 वर्ष आयु वर्ग में) मर जाते हैं । वर्ष 2025 तक कैंसर के कारण समय से पहले होने वाली मौतों के बढ़कर प्रति वर्ष 60 लाख होने का अनुमान है। यदि विश्व स्वास्य संगठन के 2025 तक कैंसर के कारण समय से पहले होने वाली मौतों में 25 प्रतिशत कमी के लक्ष्य को हासिल किया जाए तो हर साल 15 लाख जीवन बचाए जा सकते हैं। ये बाते जदयू के वरीष्ठ नेता व मृदुराज फाउंडेशन के अध्यक्ष राजीव रंजन ने कही। श्री रंजन आज विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर समाजसेवी संस्था मृदुराज फाउंडेशन के पटना स्थित शाखा कार्यालय के सभागार में आयोजित एकदिवसीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इससे बचने के लिए समय की मांग है कि इस बीमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने के साथ-साथ इससे निपटने की व्यावहारिक रणनीति विकसित की जाए। कैंसर जैसी खतरनाक और जानलेवा बिमारी को डिटेक्ट करने और इसकी रोकथाम करने व जागरूकता फैलाने हेतु हर वर्ष अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 4 फरवरी को वल्ड कैंसर दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। र्वल्ड कैंसर दिवस की स्थापना यूनियन फर इंटरनेशनल र्केसर कंट्रोल के द्वारा की गयी, जिसका उद्देश्य सन 2008 में लिखे गये र्वलड कैंसर डिक्लेरेशन को सपोर्ट करना हैं। यह दिवस मनाने का प्राथमिक उद्देश्य सन 2020 तक कैंसर पीड़ित व्यक्तियों की संख्या में कमी करना और इसके कारण होने वाली मृत्यु दर में कमी लाना हैं़। यह जानकारी मृदुराज फाउंडेशन के प्रवक्ता अपूर्व श्रीवास्तव एवं मीडिया प्रभारी अमन श्रीवास्तव ने दी। इस अवसर पर कृष्णा वर्मा. राजन कुमार सिन्हा, अधिवक्ता अजय अरोरा , मो. शकील, राजीव पटेल, राजा निषाद, दीपक कुमार , अजय कुमार वर्मा, सुधीर सिंह पटेल, मनीष गुप्ता ,आरती सिन्हा, अनुराधा सिंह, मन्नू यादव, शुभम सिन्हा, सुश्री एकता, सुश्री सुरभी सिन्हा, सुश्री आराध्या , आदित्य नंदन, फूलकुमारी देवी, सहित सैकड़ों कार्यकर्ता एवं स्कूली बच्चों ने शिरकत की।

यह भी पढ़े  मोदी को लोग दोबारा चाहते हैं पीएम बनाना : रविशंकर प्रसाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here