कैंसर से बचने के लिए तम्बाकू और खैनी छोड़ें : मंगल पांडेय

0
43
file photo

पटना : स्वास्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने रविवार को स्पष्ट किया कि राज्य में खैनी को प्रतिबंधित करने के लिए स्वास्य विभाग ने केन्द्र सरकार को कोई पत्र नहीं भेजा है। हालांकि उन्होंने मुंह के कैंसर से बचने के लिए आमजनों से तम्बाकू का सेवन नहीं करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि तम्बाकू और खैनी के अधिक उपयोग से मुंह के कैंसर की संभावना अधिक होती है।ज्ञात हो कि खैनी को प्रतिबंधित करने संबंधी खबरें सुर्खियां बटोर रही हैं। अटकलें लगाई जा रही हैं कि राज्य सरकार खैनी का प्रचलन बंद कर सकती है। ऐसे में स्वास्य मंत्री का बयान काफी महत्वपूर्ण है। श्री पाण्डेय ने यहां कहा कि सामान्य रूप से माउथ कैंसर के जो रोगी होते हैं उनमें 40 प्रतिशत तम्बाकू और खैनी के कारण होते हैं । राज्य में ऐसी मरीजों की संख्या बढ़ी है तथापि राज्य में खैनी का सेवन करने वालों की संख्या घटी है। विगत छह वर्षो में तम्बाकू का सेवन करने वालों की संख्या में काफी कमी आयी है। छह वर्ष पूर्व तक राज्य में 54 प्रतिशत लोग तम्बाकू-खैनी का सेवन करते थे, जो घटकर अब 26 प्रतिशत पर आ गया है। राज्य के स्वास्य विभाग का प्रयास है कि सेवन करने वालों की संख्या और घटे। यह न्यूनतम होकर समाप्ति की ओर चला जाये। उन्होंने स्पष्ट किया कि राज्य में खैनी को प्रतिबंधित करने के लिए स्वास्य विभाग ने केन्द्र सरकार को कोई पत्र नहीं भेजा है। श्री पाण्डेय ने तम्बाकू और खैनी से होने वाले कैंसर जैसे रोग के प्रति आमजनों को सचेत करते हुए कहा कि लोगों की जीवन आयु बढ़े और वे कैंसर के रोग से ग्रस्त न हों , इसके लिए स्वास्य विभाग अपने विभिन्न कार्यक्रमों के जरिये तम्बाकू खैनी के न्यूनतम प्रयोग का प्रयास कर रहा है ताकि आगे इसका सेवन समाप्ति की ओर बढ़े।

यह भी पढ़े  जनसहयोग से ही कचरा प्रबंधन संभव : नीतीश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here