कुशवाहा अभी दुविधा में, आज मिल सकते हैं भाजपा अध्यक्ष से

0
10

केन्द्रीय राज्य मंत्री व रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने अभी तक कोई एनडीए गठबंधन में रहने या न रहने पर कोई निर्णय नहीं लिया है, लेकिन उन्हें अब जल्द ही इसका फैसला करना होगा। वजह कि राजद की ओर से उन्हें फाइनल ऑफर दिया जा चुका है। राजद सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुशवाहा को कहा गया है कि वे एनडीए के साथ रहने या राजद-कांग्रेस के साथ महागठबंधन में आने को लेकर कोई निर्णय जल्द ही कर लें। राजद के सूत्रों ने बताया है कि कुशवाहा को लोकसभा चुनाव के लिए कुल पांच सीट देने की पेशकश भी कर दी गई है। इनमें कुशवाहा को चार सीट बिहार में जबकि एक सीट झारखंड में देने की बात कही गई है। झारखंड में रालोसपा को चतरा सीट मिलेगी, जिस पर नागमणि चुनाव लड़ेंगे। फिलहाल उपेन्द्र कुशवाहा अभी दुविधा में पड़े हैं। हाल में उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के एक बयान को लपक कर उन पर खुला अटैक बोल दिया है। कुशवाहा ने अब नीतीश के बयान को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को भी लेटर लिखने की बात कही है। बड़ी संभावना है कि वे बुधवार को दिल्ली में अमित शाह से मुलाकात भी कर सकते हैं। बीते महीने 26 अक्टूबर को दिल्ली में अमित शाह ने बिहार एनडीए की सीट शेयरिंग पर बड़ी घोषणा की थी। मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद थे। उपेन्द्र कुशवाहा पर भी अमित शाह ने बड़ा दावा किया, लेकिन इसी दौरान कुशवाहा बिहार में तेजस्वी यादव से मुलाकात करते वायरल हो गए। यह मुलाकात सर्किट हाउस में हुई। बंद कमरे में गुफ्तगू हुई। इधर, आज ही रालोसपा के नेता नागमणि ने फिर बड़ा बयान दिया है। राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर कहा कि अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में एनडीए नहीं जीतेगी। इसके साथ ही उन्होंने राजद नेता लालू यादव की तारीफ भी की है। एनडीए के ही सहयोगी दल आरएलएसपी के नेता के ऐसे बयान से राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है। इससे पहले पूर्व मंत्री और आरएलएसपी के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने एक बार फिर उपेंद्र कुशवाहा को बिहार का अगला सीएम बताया था। गया में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने सीट शेयरिंग पर कहा था कि हमारी ताकत के मुताबिक हमें सीट मिलनी ही चाहिए। महागठबंधन में शामिल होने पर उन्होंने कहा कि ऑफर तो लगातार मिल रहे हैं, लेकिन अभी फिलहाल हम एनडीए में हैं। आगे का पता नहीं, क्या होता है। वैसे नीच’ और ‘‘डीएनए’ को लेकर बिहार में सियासी संग्राम जारी है। इसे लेकर एक बार फिर उपेंद्र कुशवाहा सामने आए हैं। रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि वे ‘‘नीच’ मामले को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के पास पहुंचायेंगे। उनसे मुलाकात कर अपनी बात रखेंगे। यदि उनसे मुलाकात नहीं हुई तो वे अमित शाह को पत्र लिखेंगे। उन्होंने कहा कि जब तक नीतीश कुमार अपनी बात को वापस नहीं लेंगे, हमारी बेचैनी बढ़ी रहेगी। दरअसल बिहार एनडीए में उस समय मामला गरम हो गया, जब मुजफ्फरपुर में 4 नवंबर को रालोसपा की ओर से आयोजित हल्ला बोल दरवाजा खोल कार्यक्रम में उपेंद्र कुशवाहा ने मुख्यमंत्री से डीएनए रिपोर्ट मांग ली। इसके बाद तो एनडीए नेताओं की ओर से कुशवाहा पर चौतरफा हमला हो गया है। जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और प्रवक्ता नीरज कुमार के अलावा केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा से ऐसी उम्मीद नहीं थी।

यह भी पढ़े  सीएम के हाथों सम्मानित हुए 98 वर्षीय राजकुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here