कुरीतियों को जड़ से उखाड़ फेंकें : नीतीश

0
178

लखीसराय – ‘‘विकास समीक्षा यात्रा’ के दूसरे चरण के तहत शुक्रवार को लखीसराय पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सूबे के विकास के लिए एक बार फिर अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की। उन्होंने लोगों से बाल विवाह और दहेज प्रथा जैसी सामाजिक कुरीतियों को उखाड़ फेंकने की अपील की। उन्होंने स्पष्ट कहा कि न्याय के साथ विकास को सरजमीं पर उतारने के लिए सामाजिक कुरीतियों को दूर करना अनिवार्य है। इससे पहले मुख्यमंत्री ने हलसी प्रखंड की धीरा पंचायत अंतर्गत आगत गांव में रिमोट कंट्रोल से विकास की कुल 52 योजनाओं के शिलान्यास एवं उद्घाटन किया। बाद में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने लोगों से बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के खिलाफ 21 जनवरी को बनने वाली मानव श्रृंखला में भागीदारी सुनिश्चित करने की जोरदार अपील की। मुख्यमंत्री ने सात निश्चय योजना के तहत चल रहे विकास कायरे में मिलीं उपलब्धियों को भी गिनाया। उन्होंने कहा कि हमारा राज्य कृषि पर आधारित है। राज्य में कृषि का विकास हो और किसान समृद्ध हों, इसके लिए कृषि रोड मैप बनकर तैयार हो चुका है। इसमें जैविक खेती, फलों व सब्जियों के रख-रखाव के लिए सहकारिता से जोड़ने एवं किसानों को उचित मूल्य फसल की दिलाने तथा भंडारण की बेहतर व्यवस्था शामिल है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कृषि विज्ञान केंद्र हलसी की जमीन पर स्टेडियम का निर्माण कराने की भी घोषणा की। इसके अलावा उन्होंने इंजीनियरिंग एवं महिला कॉलेज खोलने के लिए अविलंब जमीन मुहैया कराने का निर्देश संबंधित विभागीय पदाधिकारी को दिया। इस अवसर पर जल संसाघन मंत्री राजीव रंजन सिंह ने कहा कि वर्ष 2005 में जब उन्हें सत्ता मिली, तो उस समय लोग सड़क एवं बिजली की मांग करते थे, लेकिन अब ट्रांसफार्मर बढ़ाने या फिर बदलवाने की मांग करते हैं। विकास की तस्वीर ऐसी बदली है कि 90 फीसदी आबादी सड़क, बिजली, नल-जल से जुड़ गयी है। इससे पूर्व, घने कोहरे की वजह से मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर की बजाय राजगीर से सड़क मार्ग के जरिये जिले के हलसी प्रखंड की धीरा पंचायत अंतर्गत आगत गांव पहुंचे। मुख्यमंत्री ने सर्वप्रथम गांव में सात निश्चय के तहत घर-घर पहुंचे विकास कायरे का अवलोकन किया। उन्होंनें वृक्षारोपण कर करोड़ों की लागत से बने जलापूर्ति के जलमीनार का उद्घाटन किया।

यह भी पढ़े  सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी आज पटना में मुख्यमंत्री के साथ बैठक

अगले वर्ष तक शेष गांवों में भी विद्युत लाइन पहुंचाएगी सरकार : नीतीश

विकास समीक्षा यात्रा के दौरान शुक्रवार को शेखपुरा पहुंचे सीएम नीतीश कुमार ने फरपर गांव में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमने जो गांव-गांव में बिजली पहुंचाने का वादा किया था, जो पूरा कर दिया। अब अगले साल 2018 तक राज्य के शेष बचे टोलों में बिजली पहुंचा दी जायेगी। उन्होंने कहा कि हमारी सोंच है कि हर टोला मुहल्ला में कोई भी इच्छुक परिवार बिजली से वंचित नहीं रहे। सभी परिवार के घरों में बिजली का कनेक्शन देना है। श्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य का हर क्षेत्र में अमूल विकास हुआ है । उन्होंने कहा कि अब आप जनता मिलकर शराबबंदी, दहेज प्रथा और वाल विवाह उन्मूलन में सरकार को बढ़-चढ़कर सहयोग करें। गांव के हर बिजली ट्रांसफर्मर के खम्भों पर टोल फ्री नम्बर अंकित किया जाएगा। यदि आपको कोई शराब पीते, बेचते दिखाई दे तो फौरन उस नम्बर पर कॉल कर सूचना दें। आपका नाम गुप्त रखा जायेगा। उन्होंने भाषण के दौरान सरकार की उपलब्धियों को गिनाया, उन्होंने मंच पर बैठे पटना से आये अधिकारियों को इस जिला के कई इलाकों में पीने का पानी फ्लोराईड युक्त होने के कारण उस दूषित जल से बचाव का अविलम्ब उपाय करने का निर्देश दिया। साथ ही डीहा गांव में पुरातत्व विभाग से धरती के अंदर खुदाई करने को भी कहा। उन्होंने आठ वर्ष पूर्व विकास यात्रा के दौरान यहां पहुंचने का हवाला देते हुए कहा कि हमने जो इसी स्थल पर जनता से वादा किया था। उसे पूरा कर दिया, डीहा मध्य विद्यालय को उत्क्रमित कर हाई स्कूल का दर्जा दिया गया। जिसका काम जो बंद हो गया है। उसे पूरा करने के लिए सरकार ने राशि उपलब्ध करा दी। मंच पर उनके साथ राज्य के ग्रामीण विकास सह जिला प्रभारी मंत्री श्रवण कुमार, क्षेत्रीय जदयू विधायक रणधीर कुमार सोनी, बरबीघा के कोंग्रेस विधायक सुदर्शन कुमार, राज्य सरकार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक पी के ठाकुर, जदयू के प्रदेश नेता अंजनी कुमार, डीएम-एसपी, अन्य विभागों के प्रधान सचिव, जिला परिषद अध्यक्ष निर्मला कुमारी आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़े  देश की युवा पीढ़ी भारत को ‘जगद गुरु’ की गरिमा पुन: दिला सकती है:राज्यपाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here