कुरीतियों के खिलाफ सभी को लड़ना होगा :मुख्यमंत्री

0
139
MADHEOURA WARD NO 9/10 MEN C M NITISH KUMAR GAON BHERMAN AND HER GHAR SOCHALEY......................

मधेपुरा। ‘‘महिला सशक्तीकरण के लिए राज्य सरकार ने कई कदम उठाये हैं। शराबबंदी के बाद हमारी लड़ाई बाल विवाह और दहेज प्रथा जैसी सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ है। हम सबों को एकजुट होकर इसका उन्मूलन करना होगा।’ये बातें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बृहस्पतिवार को मधेपुरा में कहीं। विकास समीक्षा यात्रा के तीसरे चरण के तहत यहां पहुंचे मुख्यमंत्री ने 6 अरब 21 करोड़ 32 लाख की योजनाओं का उद्घाटन भी किया। उन्होंने सिंहेश्वर प्रखंड की गौरीपुर पंचायत के वार्ड 9-10 का निरीक्षण भी किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज मुझे आपके बीच उपस्थित होने का अवसर मिला। वर्ष 2009 में 12 जून को जब मैं विकास यात्रा के क्रम में मधेपुरा आया था तो यही सिंहेश्वर स्थान में हमने रात्रि विश्राम किया था।यह पवित्र भूमि है और मैं इस भूमि को पण्राम करता हूं। उन्होंने कहा कि हर आदमी के मन में एक इच्छा रहती है कि हमें भी नल का शुद्ध पानी मिले। उसी दिशा में हमने यह निर्णय लिया कि हर घर में नल का जल उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि लगभग हर गांव में बिजली पहुंच चुकी है। सिर्फ कुछ टोले में ही बिजली नहीं पहुंची है वहां भी अप्रैल तक पहुंच जाएगी। हमारा लक्ष्य है कि हर गांव से राजधानी पटना जाने में कम से कम पांच घंटे का समय लगे। इसके लिए हमारा प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी से बेहतर माहौल बना है। पहले जो लोग शराब पीकर अपनी मेहनत की कमाई गंवा देते थे आज वे अपने घर में अपने बच्चों के पढ़ाई लिखाई पर पैसे खर्च कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने महिला सशक्तीकरण के लिए ठोस कदम उठाये हैं। सरकार ने नौकरियों में महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करने की योजना बनाई है। उन्होंने कहा कि बाल विवाह और दहेज प्रथा एक सामाजिक कुरीति है जिसके खिलाफ हम सबों को लड़ना होगा। उन्होंने लोगों से बाल विवाह व दहेज प्रथा के खिलाफ 21 जनवरी को बनने वाली मानव श्रृंखला में शामिल होने की अपील की। और आशा जतायी कि यह मानव श्रृंखला एतिहासिक होगी। से आपलोग मानव श्रृंखला बनाकर इतिहास रचने का काम करेंगे। कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री श्री विजेंद्र नारायण यादव अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण मंत्री प्रो रमेश ऋषिदेव, बिहारीगंज के विधायक निरंजन मेहता आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़े  20 विश्‍वविद्यालयों को बनाएंगे वर्ल्‍ड क्‍लास, 5 सालों में 10 हजार करोड़ देंगे: PM नरेंद्र मोदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here