किसी भी जाति, किसी भी पंथ से पहले हम भारतीय हैं हमारी पहचान भारतीय है:प्रधानमंत्री

0
32

अररिया जिले के फारबिसगंज के हवाई अड्डा मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को भाजपा प्रत्याशी प्रदीप यादव के समर्थन में चुनाव सभा को संबोधित किया. सभा में प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान आदि कई लोग मौजूद रहे.
मंच पर आते ही सबसे पहले पीएम मोदी ने भारी संख्या में लोगों के पहुंचने का धन्यावाद दिया. उन्होंने धूप में खड़े लोगों को रैली में पहुंचने का आभार जताते हुए कहा कि, आप सब की यह मेहनत बेकार नहीं जाने दूंगा. मैं पिछले 5 सालों से आप सब की सेवा कर रहा हूं. अभी मैं बंगाल में कार्यक्रम करके आ रहा हूं, जैसा जनसैलाब बंगाल में देखा और वैसा ही जनसैलाब यहां भी है. इनती भयंकर धूप में भी इतनी बड़ी तादाद में लोग हैं. आप इस ताप में जो तप रहें है, ये तपस्या मैं बेकार नहीं जाने दूंगा. मैं आप सब की तपस्या को ब्याज समेत लौटाउंगा. मैं द्वारिकाधीश की धरती से आता हूं और आप जानते हैं कि द्वारिकाधीश और गोपालक का सीधा नाता है.

किसी भी जाति और पंथ से पहले हम भारतीय हैं, हमारी पहचान भारतीय है। मां भर्ती की सेवा और साधना की इस भावना के साथ ही, बीते 5 वर्षों में मैंने आपकी सेवा करने का प्रयास किया है. पीएम मोदी ने साल 26/11 हमले की याद दिलाते हुए कहा, कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, 26/11 को मुंबई में जब आतंकियों ने हमला किया तो कांग्रेस सरकार ने सेना को कुछ भी जवाब देने से मना कर दिया. कांग्रेस ने पाकिस्तान से आये आतंकियों को जवाब देने के बजाए हिंदुओं के साथ आतंकी शब्द चिपकाने के लिए साजिश की. योजना बनाकर जांच की पूरी दिशा बदल दी.

यह भी पढ़े  चार्जशीट भी दाखिल होगी, सजा भी मिलेगी :मोदी

हमारी सरकार में आतंकवाद के खिलाफ पहले सर्जिकल स्ट्राइक हुई और फिर एयर स्ट्राइक हुई. परिणाम ये हुआ कि जो पाकिस्तान पहले चोरी और सीनाजोरी करता था, वो आज दुनिया में जाकर गुहार लगा रहा है कि भारत ने आतंकियों को घर में घुसकर मारा. मैं हमारे जवानों के पराक्रम पर सवाल उठाने वालों को चुनौती देता हूं कि हिम्मत है तो चुनाव में जनता के बीच जाओ और पुलवामा के शहीदों का हमने जो बदला लिया है उसपर चर्चा करके देखो, सेना के पराक्रम पर सवाल पूछकर देखो, मेरी चुनौती है नहीं पूछ पाएंगे. इसी तरह की वोट बैंक की राजनीति उस समय की गई थी जब दिल्ली के बटला हाउस में हमारे वीरों ने बम धमाकों में शामिल आतंकियों को मारा था. लेकिन आतंकियों पर कार्रवाई से खुश होने के बजाय, कांग्रेस के बड़े नेताओं की आंखों में आसूं आ गए थे.

झूठ की राजनीति करने वाले बिहार में अफवाह फैला रहे हैं. वो कह रहे हैं सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए जो 10 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है, वो आरक्षण बाद में खत्म कर दिया जा रहा है. ऐसे झूठ पीढ़ी दर पीढ़ी चल रहे हैं, बाप भी चलाता था, बेटा भी चला रहा है. मैं कहना चाहता हूं कि जो आरक्षण बाबा साहब करके गए हैं उसे कोई हाथ नहीं लगा सकता. आपके इस चौकीदार की सरकार में दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ केयर स्कीम ‘आयुष्मान भारत’ देश में चल रही है. हर वर्ष गरीबों को 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलना संभव हुआ है. ओडिशा, बिहार, पश्चिम बंगाल, नॉर्थ ईस्ट और सारे क्षेत्रों का विकास मेरा सपना है. हमें मिलकर, एकजुट होकर विकास के संकल्प को सिद्धि तक पहुंचाना है। हमें मिलकर चौकीदारी करनी है.

यह भी पढ़े  पटना एयरपोर्ट पर टला हादसा, टेक ऑफ के दौरान एयर इंडिया के प्लेन से टकराया पक्षी

विपक्षी दलों ओर नेताओं पर साधा निशानाकहा…

विपक्षी दलों एवं कुछ नेताओं पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि जब सत्ता भोग और परिवार का विकास ही लक्ष्य हो जाता है, तो कलह ही दिखाई देता है. बिहार में तो यह साफ दिखाई देता है. लालू प्रसाद की पार्टी राजद पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस पार्टी ने लगातार 15 वर्षों तक कानून-व्यवस्था को ठेंगा दिखाया, उसके नेता आज बेशर्मी के साथ संविधान बचाने की बात कर रहे हैं. बिहार के लोग ऐसे झांसेबाजों को माफ नहीं करेंगे. आरक्षण के विषय पर राजद समेत विपक्षी दलों के आरोपों पर प्रधानमंत्री ने कहा कि झूठ की राजनीति करने वाले बिहार में अफवाह फैला रहे हैं. ऐसे झूठ पीढ़ी दर पीढ़ी चल रहे हैं, बाप भी चलाता था, बेटा भी चला रहा है. मोदी ने जोर दिया, ”मैं कहना चाहता हूं कि जो आरक्षण बाबा साहब करके गये हैं, उसे कोई हाथ नहीं लगा सकता.” उन्होंने जोर दिया कि बिहार के हर गांव में बिजली पहुंची है और इस बार चुनाव में बिजली मुद्दा नहीं है.”

यह भी पढ़े  भाजपा व नीतीश कर रहे नकारात्मक राजनीति :तेजस्वी

सुरक्षाकर्मियों ने खुलवाये प्रधानमंत्री की सभा में पहुंचे लोगों के जूते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में भारी संख्या में लोग पहुंचे. वहीं, सभा स्थल पर जाने के पहले सुरक्षाकर्मियों ने सुरक्षा के मद्देनजर आये लोगों के जूते खुलवाकर चेक किया. बाद ही उन्हें अंदर जाने दिया गया. मालूम हो कि प्रधानमंत्री लोकसभा चुनाव को लेकर जमुई, गया और भागलपुर में इससे पहले रैली कर चुके हैं. लेकिन, वहां लोगों से जूते नहीं खुलवाये गये. लेकिन, अररिया में जूते खुलवा कर चेक किया गया. मालूम हो कि बिहार में प्रधानमंत्री की निर्धारित आठ चुनावी सभाओं में आज चौथी सभा को संबोधित किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here