किसानों के मुद्दे पर आपस में ही उलझ गये राजद के दो सदस्य

0
6
PATNA vidhan sabhamein apni mangon ko leker perdershan kerte RJD MLA

बिहार विधानसभा में बुधवार को राजद के दो सदस्य आपस में ही उलझ गए। सदन में सरकार को घेरते-घेरते राजद सदस्य अपने सहयोगी से ही उलझ गए। विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के जवाब से असंतुष्ट सदस्य सदन के बीच में आकर सरकार के खिलाफ किसान विरोधी होने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान जब सदन को अव्यवस्थित देख सभाध्यक्ष विजय कुमार चौधरी सदन को स्थगित करने की घोषणा करने ही वाले थे तब राजद के अब्दुल बारी सिद्दिकी ने सदन से बहिर्गमन करने की घोषणा की। इसके बाद उनके साथ राजद के कुछ सदस्य सदन से बहिर्गमन करने लगे। इस पर राजद के मुख्य सचेतक ललित यादव ने अपनी पार्टी के सदस्यों से सदन के बीच में ही रहकर नारेबाजी करने को कहा। श्री यादव और राजद के कुछ सदस्य सदन के बीच से ही नारेबाजी करते रहे तब सभाध्यक्ष विजय कुमार चौधरी और संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि श्री सिद्दीकी राजद सदस्यों के साथ सदन से बहिर्गमन कर गये और कुछ सदस्य यहां नारे लगा रहे हैं। उन्होंने राजद के ललित यादव से पूछा कि आखिर राजद के सदस्य क्या चाहते हैं। श्री यादव ने शोरगुल और नारेबाजी के बीच ही कुछ कहने की कोशिश की लेकिन शोर के कारण उनकी बात ठीक से सुनाई नहीं दी। इसी बीच विधायक विजय प्रकाश सदन के बीच में आकर श्री ललित यादव से भी सदन से बहिर्गमन करने के श्री सिद्दीकी के निर्णय की जानकारी दी। इस पर श्री प्रकाश और श्री यादव के बीच तीखी नोकझोंक हुई। इसके बाद श्री यादव और राजद के अन्य सदस्य भी सदन से बहिर्गमन कर गये। इससे पूर्व राजद के अब्दुलबारी सिद्दीकी के अल्पसूचित प्रश्न के उत्तर में जल संसाधन मंत्री श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश में रबी की खेती के लिए 653228 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रदान करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया, जिसके विरुद्ध अब तक 515095 हेक्टेयर क्षेत्र में किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने कहा कि जिन 16 जिलों के लिए प्रश्न किया गया है उनमें से मात्र चार जिले सीवान, सारण, गोपालगंज और गया (आंशिक) में किसानों को सिंचाई की सुविधा नहर मरम्मत का कार्य प्रगति में रहने के कारण नहीं मिल पा रहा है। शेष जिलों में किसानों को रबी फसल के लिए नहर से सिंचाई सुविधा प्रदान की जा रही है।श्री सिंह ने कहा कि पश्चिमी गंडक नहर पण्राली के अंतर्गत सीवान, सारण और गोपालगंज जिले में सारण मुख्य नहर और उसकी वितरण पण्रालियों के पुनस्र्थापन कार्य के लिए तथा गया जिले के आंशिक क्षेत्र में पूर्वी सोन उच्चस्तरीय नहर तथा रतनी वितरणी एवं मऊ माइनर के पुनस्र्थापन एवं लाइ¨नग कार्य के लिए रबी सिंचाई 2018-19 की अवधि में जलापूर्ति बंद करने का विभाग ने निर्णय लिया है। इसके लिए दैनिक समाचार पत्रों में सूचना भी प्रकाशित की गई ताकि किसान पटवन के लिए वैकल्पिक व्यवस्था कर सकें। मंत्री ने कहा कि जल संसाधन विभाग नहरों के अंतिम छोर तक पानी पहुंचा कर किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराने पर विशेष ध्यान दे रहा है। वर्ष 2016-17 में विभाग ने कुल 26.72 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई, जो एक रिकॉर्ड है। इसी तरह वर्ष 2017-18 में खरीफ सिंचाई 19.53 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में उपलब्ध कराई गई है, जो भी एक रिकॉर्ड है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018-19 में 20.43 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इस पर राजद के सदस्यों ने कहा कि सरकार किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराने में पूरी तरह विफल रही है और अब अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए लीपापोती करने में लगी है। उन्होंने कहा कि राज्य में राजकीय नलकूप खराब हैं या बिजली उपलब्ध नहीं होने के कारण बंद पड़े हैं। इसके बाद राजद के सदस्य अपनी सीट से ही खड़े होकर शोरगुल करने लगे। राजद सदस्यों ने कहा कि पूरे बिहार में सरकार सिंचाई की व्यवस्था करने में नाकाम रही है। किसान परेशान है और सरकार को उनकी कोई चिंता नहीं है।राजद सदस्य शोरगुल और नारेबाजी करते हुए सदन के बीच में आ गए। राजद सदस्यों के शोरगुल के बीच ही मंत्री श्री सिंह ने कहा कि राजद का किसानों से कोई लेना देना नहीं है, सिर्फ हंगामा करना उनका मकसद है। हंगामे के बीच ही संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि जब उत्तर सुनने का साहस नहीं है तो वे प्रश्न ही क्यों पूछते हैं। उन्होंने सदस्यों से हंगामा करने के बजाये पूरक प्रश्न पूछने का आग्रह किया लेकिन राजद के सदस्य शोरगुल और नारेबाजी करते रहे। कुछ देर के बाद श्री सिद्दीकी के साथ राजद के कुछ सदस्य सदन से बहिर्गमन कर गये। इसी दौरान राजद के मुख्य सचेतक ललित यादव और राजद विधायक विजय प्रकाश के बीच नोकझोंक भी हुई। थोड़ी देर के बाद राजद के सदस्य फिर से सदन में आ गये और कार्यवाही में हिस्सा लिया ।

यह भी पढ़े  बदल रहा बिहार :ग्रामीण पथों को शहरों से जोड़कर विकास में जुटी सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here