किसानों के कल्याण के लिए काम कर रही सरकार : नीतीश

0
14

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किसानों के कल्याण के लिए काम करने की प्रतिबद्धता दुहराते हुए आज कहा कि सरकार ने फसलों के उत्पादन की क्षति होने पर कृषकों को वित्तीय सहायता देने के उद्देश्य से बिहार राज्य फसल सहायता योजना लागू करने का निर्णय लिया है।श्री कुमार ने बुधवार को यहां सुगांव में प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी, पूर्व सांसद एवं पूर्व मंत्री सुखदेव प्रसाद वर्मा की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने किसानों के हित के लिए अनेक काम किए हैं। कृषि रोडमैप बनाकर उसे लागू किया गया है। उन्होंने कहा कि मंत्रिपरिषद् की बैठक में बिहार राज्य फसल सहायता योजना लागू करने का निर्णय लिया है। इसके तहत फसलों के उत्पादन में क्षति होने पर किसानों को वित्तीय सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय योजना के तहत फसल बीमा योजना लागू थी, जिसके तहत बीमा कंपनियों को बराबर राशि केंद्र और राज्य सरकार प्रीमियम के रूप में देती थी और दो प्रतिशत प्रीमियम किसानों को भी देना पड़ता था। फसल बीमा योजना का लाभ किसानों को उतना नहीं मिल पाता है, जितना बीमा कंपनियों को राज्य एवं केंद्र सरकार से प्रीमियम के रूप में राशि प्राप्त होती है। उन्होंने बताया कि खरीफ और रबी फसलों के लिए बीमा कंपनियों को 400-400 करोड़ रुपये प्रीमियम के रूप में केंद्र एवं राज्य सरकारें देती हैं और किसानों को सिर्फ 150 करोड़ का ही लाभ मिल पाता है। ऐसे में फसलों के नष्ट होने, कम ऊपज होने पर कृषकों की सहायता करने के लिए राज्य सरकार ने फसल बीमा योजना के समानांतर बिहार राज्य फसल सहायता योजना लागू करने का निर्णय किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीति को सेवा का मार्ग समझा जाना चाहिए। लोगों को यह समझने की जरूरत है कि राजनीति में लाभ के लिए नहीं बल्कि सेवा का भाव लेकर काम करना चाहिए। इसी मगध की धरती से चाणक्य ने राजा चंद्रगुप्त को कहा था कि राजनीति सेवा की चीज है। राजा बने हो तो सुख के लिए मत सोचो, कष्ट झेलना पड़ेगा और लोगों का ख्याल रखना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर की राजनीति में गिरावट आयी है। आज जिस पुस्तिका का विमोचन हुआ है, उसमें सुखदेव वर्मा जी के बारे में पढ़कर यह जानकारी मिली कि जब उनका निधन हुआ था उस वक्त उनके खाते में मात्र 700 रपए थे। उनकी पुण्यतिथि पर हर वर्ष यहां राजकीय समारोह का आयोजन होगा। उन्हीं के पुत्र श्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा बिहार में शिक्षा एवं विधि मंत्री हैं। मुझे उम्मीद है अपने पिता के पदचिह्नों पर चलते हुए जिम्मेवारियों का बेहतर ढंग से वे निर्वहन करेंगे।

यह भी पढ़े  गरीब सवर्णों को मिले 15% आरक्षण: रामविलास पासवान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here