किशनगंज के सांसद मौलाना असरारूल हक को दिल का दौरा पड़ने से निधन

0
213

सीमांचल के कद्दावर नेता व किशनगंज से सांसद मौलाना असरारुल हक कासमी का शुक्रवार की सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कासमी 76 वर्ष के थे. सांसद कासमी का निधन सीमांचल के लिए बहुत बड़ी क्षति है.  कासमी किशनगंज विधानसभा सीट से कांग्रेस के सांसद और वरिष्‍ठ नेता थे. वहीं परिवार में तीन बेटे और दो बेटियां हैं.

कासमी जमीयत उलेमा ए हिंद के स्‍टेट प्रेसीडेंट भी रह चुके हैं. वहीं 2009 में कांग्रेस से किशनगंज विधानसभा सीट जीतने के बाद 2014 के आम चुनावों में न केवल कासमी ने भाजपा के खिलाफ सीट जीती बल्कि राज्‍य में सबसे ज्‍यादा वोटों के अंतर से जीती.

स्व हक का जन्म 15 फरवरी 1942 को हुआ था और बीती रात किशनगंज सर्किट हाउस में दिल के दौरे की वजह से उनकी मौत हो गई. फिलहाल उनके शव को उनके गांव ताराबाड़ी में रखा गया है जहां से जनाजे की अंतिम नमाज के बाद उन्हें सुपुर्दे खाक किया जाएगा.

यह भी पढ़े  लालू प्रसाद जमानत याचिका पर झारखंड हाईकोर्ट में कल होगी सुनवाई

मौलाना साहब को बहुत ही मिलनसार और नेक दिल इंसान के रुप मे हर जाति वर्ग के लोगों के बीच सम्मान प्राप्त था. मौलाना साहब के निधन के बाद कांग्रेस समेत कई दलों के पदाधिकारियों, सांसदों,विधायकों, पंचायत प्रतिनिधियों की लगातार शोक संवेदनाएं आ रहीं हैं.

वे आलिमे दीन भी थे और धार्मिक सामाजिक विषयों के ख्यातिप्राप्त वक्ता और लेखक थे. वे देश विदेश में अपने सामाजिक सम्बोधन के लिए सांसद होने का बावजूद बतौर वक्ता आमंत्रित होते थे.
मों तस्लीम के बाद इस अल्पसंख्यक बहुल इलाके में एक दूसरे खास नेता की कमी खलेगी. 2009 के बाद 2014 में वे काफी मतों से सांसद चुने गए थे.

जानकारी के मुताबिक, सीमांचल से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बिहार के किशनगंज से सांसद मौलाना असरारुल हक कासमी का 76 वर्ष की आयु में शुक्रवार तड़के दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. बताया जाता है कि गुरुवार की देर रात एक कार्यक्रम में भाग लेने के दौरान ठंड लगने से उनकी तबीयत खराब हो गयी थी. उन्हें किशनगंज सर्किट हाउस में लाया गया, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली. उनके पैतृक गांव ताराबाड़ी में सुपुर्द-ए-खाक की रस्म अदा की जायेगी. मौलाना कासमी के परिवार में तीन बेटे और दो बेटियां हैं. उनकी बेगम सलमा खातून का निधन नौ जुलाई, 2012 को हो गया था.

यह भी पढ़े  बिहार के क्रिकेटरों मिलेगा नॉर्थ ईस्ट जोन में खेलने का अवसर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here