कालिदास रंगालय में नाटक ‘‘सिपाही की मां’ का मंचन

0
173
KALIDAS RANGALAY ME NATAK AURAT KA MANCHAN

पटना : कालिदास रंगाललय में चल रहे राष्ट्रीय प्रयास नाटय़ मेला-2017 के तीसरे दिन शनिवार को नाटक ‘‘सिपाही की मां’ का मंचन किया गया। नाटक का मंचन मागधी बज्जिका फाउण्डेशन, मुजफ्फरपुर की ओर से किया गया है। नाटक का आलेख मोहन राकेश का और निर्देशन रामेश्वर कुमार का था। नाटक में द्वितीय विश्वयुद्ध की पृष्टभूमि को कारगिल युद्ध से जोड़ कर दिखाया गया। नाटक में विशुनदेई, तो एक सिपाही की मां है। उसका बेटा कारगिल मोर्चा के युद्ध पर गया है। मां उसकी प्रतीक्षा कर रही है। बेटा न सही कम से कम उसकी कोई खबर तो आये। खबर आता भी है तो स्वप्न में, घायल अवस्था में। एक पाकिस्तानी सिपाही उसका पीछा करते उसके घर तक चला आता है। मां तो मां होती है। वह दोनों को समझाती है। युद्ध से कभी कुद हासिल नही होगा। सिपाही की मॉ युद्ध नही शांति चाहती है। स्वप्न टूटते ही उसकी बेटी गोद में होती है और आंखों में बेटा के युद्ध से लौटने की आस। नाटक में रजनी शरण, शिखा कुमारी, बब्ली कुमारी, सुजीत कुमार उमा, उदय सागर, आशीष कुमार, पिंकी कुमारी, विनोद कुमार और दीपक आनंद ने अभिनय किया।

यह भी पढ़े  काम निकालने के लिए लोग बदलते हैं स्वरूप हास्य-व्यंग्य नाट्य प्रस्तुति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here