कार्तिक पूर्णिमा पर सुरक्षा के पूरे इंतजाम

0
164
file photo

जिलाधिकारी कुमार रवि की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण के लिए बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि इस वर्ष कार्तिक पूर्णिमा 23 नवम्बर को मनाया जायेगा। पर्व धार्मिक दृष्टिकोण से बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर गंगा नदी के विभिन्न महत्वपूर्ण घाटों पर लाखों की संख्या में स्नानार्थियों की भीड़ होती है। गंगा नदी के घाटों पर स्नानार्थी अपने परिवार के छोटे-बड़े सदस्यों के साथ स्थान करने आते हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि भीड़ नियंत्रण, विधि-व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्थाओं के साथ-साथ स्नानार्थियों की सुरक्षा के लिए दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी तथा पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। इस अवसर पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी तथा पुलिस बलों को बहुत ही नम्रता एवं सौजन्यता प्रदर्शित करते हुए विधि-व्यवस्था संधारित करना है। सभी अनुमंडल पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में गंगा नदी एवं नदियों पर कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नानार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कर्तव्य पर तैनात पदाधिकारियों/ कर्मियों के अतिरिक्त मोटर बोटों/नावों के परिचालन पर दंप्रसं की धारा 144 के अंतर्गत परिचालन पर रोक लगाने हेतु निषेधाज्ञा जारी करेंगे। नाव के परिचालन पर रोक रहेगी। नगर आयुक्त, पटना नगर निगम को निर्देश दिया कि घाटों पर बैरिकेडिंग के साथ लाइटिंग की व्यवस्था करेंगे। बैरिकेडिंग में जाली लगा रहेगा। नगर निगम के द्वारा घाटों की साफ-सफाई की जाये। प्रतिनियुक्त सभी 21 सेक्टर पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने स्तर से स्थानीय लोगों एवं स्वयंसेवी के साथ कार्तिक स्नान करने वाले श्रद्धालुओं से अनुरोध करेंगे कि वहीं स्नान करें जहां बैरिकेडिंग है। सभी प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी/ पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल 22 नवम्बर को अपने-अपने प्रतिनियुक्ति स्थल का भ्रमण कर देख लेंगे एवं 23 नवम्बर पूर्वाह्न 02 बजे निश्चित रूप से अपने-अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर रिपोर्ट करेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि नगर आयुक्त, पटना नगर निगम पूर्व वर्षों की तरह घाटों पर सफाई, रौशनी आदि की व्यवस्था के साथ-साथ नदी किनारे दलदल, कीचड़ वाले स्थानों पर बालू भरने आदि की व्यवस्था ससमय सुनिश्चित करेंगे। सिविल सर्जन, पटना को निर्देश दिया कि दो एम्बुलेंस जिला नियंतण्रकक्ष, पटना में एवं एक-एक एम्बुलेंस पटना सिटी एवं दानापुर अनुमंडल तथा कुर्जी/ दीघा एवं अन्य घाट में जीवनरक्षक दवाओं के साथ उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। पुलिस अधीक्षक यातायात, पटना को निर्देश दिया कि घाटों के आस-पास सम्पर्क पथ एवं मुख्य पथों पर यातायात की व्यवस्था सुचारू रूप से रखने के लिए आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे। बड़े एवं भीड़-भाड़ वाले घाटों यथा-दीघा, पाटी पुल, गेट नं-93, बांस घाट, कलेक्ट्रेट-सह-महेन्द्रू का दियारा घाट, काली घाट, गांधी घाट, गायघाट एवं भद्रघाट पर अस्थायी नियंतण्रकक्ष की व्यवस्था नजारत उप समाहर्ता, पटना द्वारा करायी जायेगी। कार्यपालक अभियंता, पीएचईडी (यांत्रिकी) को निर्देश दिया कि कलेक्ट्रेट घाट, महेन्द्रू घाट, गायघाट एवं दीघा क्षेत्र के महत्वपूर्ण घाटों पर वाटर टैंकरों की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। अपर जिला दंडाधिकारी, आपदा प्रबंधन, नजारत उप समाहर्ता एवं अंचल अधिकारी, पटना सदर के सहयोग से गश्ती के लिए मोटर बोट/ मोटर लांच की व्यवस्था लाउडस्पीकर सहित उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। अपर जिला दंडाधिकारी, आपदा प्रबंधन, पटना एनडीआरएफ/एसडीआरएफ की टीम सहित गोताखोरों की भी प्रतिनियुक्ति करना सुनिश्चित करेंगे। पुलिस अधीक्षक (सुरक्षा) बिहार अपने स्तर से प्रशिक्षित बीडीडीएस एवं बम निरोधी दस्ता की प्रतिनियुक्ति का निर्देश संबंधित को देने एवं अपने स्तर से महत्वपूर्ण स्थलों की एन्टीसबोटेज जांच, एचएचएमडी से प्रशिक्षित पुलिस पदाधिकारी एवं कर्मियों से कराना सुनिश्चित करेंगे। सभी अनुमंडल पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र के घाटों की वीडियोग्राफी दंडाधिकारी के पर्यवेक्षण में सुनिश्चित करायेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि डी. अमरकेश नगर पुलिस अधीक्षक मध्य पटना, राजेन्द्र कुमार भील नगर पुलिस अधीक्षक पूर्वी पटना, रविन्द्र कुमार नगर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी पटना तथा कृष्ण कन्हैया प्रसाद सिंह अपर जिला दंडाधिकारी, विधि-व्यवस्था, पटना इस अवसर पर विधि-व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए सम्पूर्ण वरीय प्रभार में रहेंगे। बैठक में जिलाधिकारी कुमार रवि के साथ नगर पुलिस अधीक्षक डी. अमरकेश, नगर पुलिस अधीक्षक पूर्वी राजेन्द्र कुमार भील, अपर जिला दंडाधिकारी सामान्य आशुतोष कुमार वर्मा, अपर जिला दंडाधिकारी विधि-व्यवस्था कृष्ण कन्हैया प्रसाद सिंह, जिलाधिकारी के विशेष कार्य पदाधिकारी रजनीकांत, सभी संबंधित सेक्टर पदाधिकारी एवं प्रतिनियुक्त पदाधिकारी उपस्थित थे। 16 अपराधी देंगे अन्य थानों में हाजिरी जिलाधिकारी ने उर्स मेला एवं आसन्न लोक सभा चुनाव 2019 के आलोक में बिहार अपराध नियंतण्रअधिनियम की धारा-3 के अंतर्गत 16 अपराधकर्मियों को अन्यत्र थाना में हाजरी देने का आदेश निर्गत किया। शराब जप्तीकरण व विनष्टीकरण अभियान जारी : जिलाधिकारी ने बताया कि शराब जप्तीकरण एवं विनष्टीकरण का अभियान लगातार जारी है। अवैध शराब पकड़ने के लिए लगातार सघन छापेमारी की जा रही है। मंगलवार को नदी थाना मौजीपुर फतुहा में जप्त 4010 लीटर देशी एवं विदेशी शराब का विनष्टीकरण किया गया। नदी थाना कांड सं-171/18 अंतर्गत 3762.720 लीटर विदेशी शराब, नदी थाना कांड सं.-59/18 अंतर्गत 94.000 लीटर देशी शराब, नदी थाना कांड सं-81/17 अंतर्गत 74.000 लीटर देशी शराब, नदी थाना कांड सं-94/18 अंतर्गत 0.720 लीटर विदेशी तथा 0.360 लीटर देशी शराब जब्त एवं नष्ट किया गया।

यह भी पढ़े  दिग्गज अभिनेता कादर खान का निधन, लंबे समय से थे बीमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here