कांग्रेस सांसद के निधन पर राज्यपाल व सीएम ने जताया शोक

0
233
MAULANA ASRARUL HAQUE WITH SONIYA GANDHI

लगातार दो बार किशनगंज लोकसभा क्षेत्र से (2009 से अब तक ) कांग्रेस के लोकसभा सदस्य रहे मो. असरारुल हक कासमी के निधन पर राज्यपाल लाल जी टंडन और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सांसद के गहरी शोक-संवेदना व्यक्त की है। राज्यपाल ने कहा है कि हक लोकप्रिय तथा दूरदर्शी नेता थे। उसके निधन से राजनीतिक जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने शोक संदेश में कहा है कि मो. कासमी राजनीति में अपनी सुचिता और सरल हृदय के लिए जाने जाते थे। किशनगंज में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की स्थापना में उनका अहम योगदान था। उन्होंने कहा कि सांसद का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शांति तथा उनके परिजनों, प्रशंसकों एवं समर्थकों से दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईर से प्रार्थना की है। बिहार विधान परिषद में विपक्ष के पूर्व नेता प्रो.गुलाम गौस ने कहा कि समाज सुधार में उनकी गहरी दिलचस्पी थी। कांग्रेस ने झुकाया झंडासांसद मो. असरारुल हक के निधन का समाचार आते ही प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में शोक की लहर छा गयी एवं सदाकत आश्रम में पार्टी का झंडा झुका दिया गया। कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि असरारुल हक साहब पाक साफ और नेक इंसान थे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने असरारुल हक को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि संसद में उनकी कमी बेहद खलेगी। सोनिया गांधी ने कहा कि असरारुल हक साहब भले नेता थे और लोकतंत्र में एक जननेता के तौर पर बढिया काम करते थे। अहमद पटेल ने कहा कि असरारुल हक साहब बहुत ही सरल स्वभाव के और जनता की आवाज को हर वक्त उठाने वाले जननेता थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने कहा कि उनके निधन से पार्टी की अपूरणीय क्षति हुई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष उनके अंतिम संस्कार में शामिल हुए एवं उनके परिवार वालों से मिलकर पार्टी की ओर से संवेदना प्रकट की। पूर्व केन्द्रीय मंत्री तारिक अनवर और प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी भी उनके अंतिम संस्कार में शामिल हुए। इधर, प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में प्रदेश कांग्रेस अभियान समिति के अध्यक्ष डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में शोक सभा का आयोजन किया गया। मौके पर उपस्थित लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर मो. असरारूल हक के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की एवं उनके तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। शोक सभा में पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. शकील अहमद, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा, महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमिता भूषण, भावना झा, प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रभारी एचके वर्मा एवं अन्य कांग्रेस नेता मौजूद थे। प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष व पूर्व मंत्री डॉ. अशोक कुमार, पूर्व विधायक डॉ. हरखू झा, बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नवल किशोर शाही जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय संरक्षक सह सांसद राजेश रंजन पप्पू यादव, प्रदेश अध्यक्ष अखलाक अहमद, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, राघवेंद्र कुशवाहा, राष्ट्रीय महासचिव अकबर अली परवेज, महताब खान, राजेश रंजन पप्पू एवं युवा के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश तिवारी ने भी सांसद के निधन पर गहरी शोक संवेदना प्रकट की। लोजपा ने सांसद के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान, लोजपा केन्द्रीय संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान, लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष व पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस और दलित सेना राष्ट्रीय अध्यक्ष रामचन्द्र पासवान ने इसे बिहार की राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति बताया। लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. सत्यानंद शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह, प्रदेश महासचिव सह प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता अशरफ अंसारी, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. शहनावाज अहमद कैफी, प्रदेश महासचिव महताब आलम, प्रदेश महासचिव राजेन्द्र विश्वकर्मा, प्रदेश महासचिव सौलत राही, आनंद शंकर, शक्ति पासवान, चंदन यादव, दिनेश पासवान, कुंदन पासवान सहित लोजपा के अन्य प्रदेश पदाधिकारियों ने सांसद के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया।

यह भी पढ़े  बाबा गणिनाथ के जन्म स्थल का होगा सौंदर्यीकरण : प्रमोद

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here