कांग्रेस को परिवार भक्ति में ही राष्ट्र भक्ति नजर आती है : मोदी

0
42

विपक्षी दल कांग्रेस के अंतिम सांसें गिनने का दावा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को विपक्षी पार्टी पर आरोप लगाया कि उसे एक परिवार के प्रति समर्पण में ही राष्ट्रवाद नजर आता है। महाराष्ट्र में अगले हफ्ते होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री अकोला और जालना जिलों में रैलियों को संबोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ¨हदुत्व विचारक विनायक दामोदर सावरकर के संस्कार राष्ट्र निर्माण का आधार हैं। इसके साथ ही उन्होंने अफसोस जताया कि बाबासाहेब आंबेडकर को दशकों तक भारत रत्न से वंचित रखा गया। उन्होंने कहा, यह सावरकर के संस्कार ही हैं कि हमने राष्ट्रवाद को राष्ट्र निर्माण के मूल में रखा है। उनके इस बयान के एक दिन पहले ही भाजपा की महाराष्ट्र इकाई ने 21 अक्टूबर को प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अपने घोषणा पत्र में सावरकर को भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न दिए जाने की मांग उठाई थी। पीएम ने कहा कि कांग्रेस वह पार्टी नहीं रह गई जिसने आजादी की लड़ाई लड़ी थी। मोदी ने कहा कि उन्होंने पढ़ा कि कांग्रेस अपने कार्यकर्ताओं को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाएगी। मुझे नहीं पता कि इस पर हंसना चाहिए या रोना। यह साबित करता है कि आज की कांग्रेस वह नहीं है जो आजादी के लिए लड़ी थी। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र बहादुरों की भूमि रही है और ऐसे नेता थे जिन्होंने देश को दिशा दिखायी। महाराष्ट्र में राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावनाएं काफी हैं। दुर्भाग्य से, कांग्रेस और राकांपा के नेताओं ने इन मूल्यों को भुला दिया। जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाए जाने को लेकर विपक्षी दलों की आपत्ति के सिलसिले में उन पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, मैं कांग्रेस और राकांपा के नेताओं से कहना चाहता हूं कि वह उस स्थान पर चादर डाल सकते हैं जहां अनुच्छेद 370 को दफनाया गया है। कुछ लोग राजनीतिक लाभ के लिए खुलकर यह कह रहे हैं कि अनुच्छेद 370 का महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से कोई लेना देना नहीं है, जम्मू-कश्मीर का महाराष्ट्र से कोई लेना देना नहीं है। मैं इस प्रकार के लोगों को बताना चाहता हूं कि जम्मू-कश्मीर और उसके लोग भी मां भारती की ही संतान हैं। उन लोगों ने सीमा पार आतंकवाद का सामना किया है। वे यह कैसे पूछ सकते हैं कि अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाने से महाराष्ट्र का क्या लेना-देना है? उन्होंने कहा, वह आश्र्चयचकित हैं कि ऐसी राजनीतिक स्वार्थी टिप्पणियां छत्रपति शिवाजी की भूमि पर की जा रही हैं।राकांपा के चुनाव चिह्न घड़ी का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि शरद पवार नीत पार्टी और कांग्रेस को राज्य के चुनावों में केवल 10- 10 सीटें मिलेंगी।

यह भी पढ़े  भयंकर बारिश से 'डूबी' मुंबई, घरों से बाहर नहीं निकलने की सलाह, कई ट्रेनें रद्द

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here