कांग्रेस के 60 लाख फर्जी वोटर्स के दावे को चुनाव आयोग ने किया खारिज, नहीं मिले सबूत

0
98

मध्य प्रदेश के अलग-अलग विधानसभा की कई इलेक्टोरल लिस्ट में बड़े पैमाने पर फर्जी नाम और तस्वीरों की कांग्रेस की शिकायत को चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया है. चुनाव आयोग ने कांग्रेस को दिये जवाब में कहा कि शिकायत में जो आरोप लगाए गए थे वह टीम की जांच में सही नहीं पाए गए.

चुनाव आयोग ने कहा, ”एक मतदाता के अलग-अलग जगह नाम होने की शिकायत को सही नहीं पाया गया है. इलेक्टोरल रोल में एक ही शख्स की बार-बार तस्वीर का मतलब यह नहीं कि वह मल्टीपल एंट्री का मामला है बल्कि ऐसे मामलों में एक शख्स की तस्वीर बार-बार रिपीट हो गई है. अगर एक ही शख्स की तस्वीर बार-बार रिपीट हुई है तो उसको सही करने का काम शुरु हो चुका है.”

चुनाव आयोग ने आगे कहा कि जो शिकायत दी गई है उसमें 23 पैरामीटर्स का जिक्र किया गया है लेकिन इनके आधार पर यह नहीं कहा जा सकता की गड़बड़ी हुई है. वोटों की संख्या अचानक बढ़ने पर चुनाव आयोग ने कहा कि यह वृद्धि अप्रत्याशित नहीं है बल्कि जनसंख्या में जिस तरह से वृद्धि हुई है. यह वृद्धि उसी को दर्शाती है.

यह भी पढ़े  मप्र: आंदोलन के दौरान सड़क पर दूध बहाना किसानों को पड़ा महंगा, हुए गिरफ्तार

क्या थी कांग्रेस की शिकायत?
कांग्रेस ने 3 जून को चुनाव आयोग को शिकायत देते हुए कहा था कि मध्यप्रदेश में अलग-अलग विधानसभाओं के इलेक्टोरल रोल की पड़ताल के दौरान फर्जी वोटरों के मामले भी सामने आए हैं. कांग्रेस की तरफ से मिली शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने मध्यप्रदेश के लिए चार अलग-अलग टीमों का गठन किया था और इन टीमों ने संबंधित इलाकों में पड़ताल करने के बाद 7 जून को अपना जवाब चुनाव आयोग को सौंप दिया था. चुनाव आयोग ने इन्हीं टीमों के जवाब के आधार पर कांग्रेस के सवालों को खारिज किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here