कश्मीर में बकरीद का त्योहार अमन-चैन से बीता : मोदी

0
17
file photo

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को धारा-370 की जंजीरों से आजाद कर केंद्र शासित प्रदेश बनाने का ऐतिहासिक फैसला आतंकवाद को जड़ से उखाड़ने और स्थानीय लोगों को तेज विकास की मुख्यधारा में शामिल करने के लिए जरूरी था। दुर्भाग्यवश पूर्व वित्त मंत्री चिदम्बरम और दिग्विजय सिंह इस फैसले की आड़ में मुस्लिम समुदाय को सरकार के खिलाफ उकसाने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ नेता कांग्रेस को स्वाधीन भारत की मुस्लिम लीग बनाने पर तुले हैं। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जिस कश्मीर से रोज मरने-मारने की खबरें आती थीं, वहां एक सप्ताह से एक भी गोली नहीं चली और बकरीद जैसा त्योहार अमन-चैन से बीता। इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह, राज्यपाल सत्यपाल मलिक और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को बधाई। जन्नत में बदलती कश्मीर घाटी कांग्रेस को बुरी क्यों लग रही है। कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने पर फिल्म, पर्यटन और खाद्य प्रसंस्करण जैसे उद्योगों का विकास होने से लोगों को रोजगार के मौके मिलेंगे, सरकारी कर्मचारियों की सुविधाएं बढ़ेंगी, दलितों के बच्चे अफसर बन सकेंगे, रिजव्रेशन का लाभ मिलेगा और पंचायत स्तर तक लोकतंत्र मजबूत होगा। कश्मीरियों की बेहतर जिंदगी के लिए 70 साल से बंद दरवाजे खोलने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न मिले, इसलिए कांग्रेस पूरे मामले को हिंदू-मुस्लिम रंग देने पर तुली है।

यह भी पढ़े  मिशन-2019 की तैयारी में जुटी पार्टी, नेताओं आज दिये जायेंगे टिप्स

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here