कल से गांधी सेतु पर नहीं चलेंगे ट्रैक्टर और ट्रॉली ,पूर्व का आदेश हुआ बेअसर

0
71

उत्तर बिहार से आने वाले छोटे निजी व सरकारी वाहन जेपी सेतु और पीपा पुल से होकर आएंगे पटना महात्मा गांधी सेतु पर ट्रक, बस, छोटे मालवाहक, ऑटो, कार व बाइक का परिचालन होगा
महात्मा गांधी सेतु पर निर्माण कार्य को लेकर, गुरुवार से जहां छोटे और सरकारी वाहनों का परिचालन जेपी सेतु और पीपा पुल से शुरू किया गया है वहीं कल से ट्रैक्टर और ट्रॉली का परिचालन बंद रहेगा। बड़े और छोटे मालवाहक ट्रक, बस, ऑटो, कार और बाइक का परिचालन गांधी सेतु के पूर्वी फ्लैंक पर दोनों ओर से होगा।ट्रैफिक एसपी के मुताबिक उत्तर बिहार से आने वाले एम्बुलेंस जाम में फंस जाते थे। इसके अलावा गांधी सेतु पर निर्माण कार्य को लेकर एसपी वैशाली के साथ उनकी बैठक हुयी। बैठक में निर्णय लिया गया कि गुरुवार से ट्रैफिक का डायवर्सन 24 नंबर पाया के बजाए अब 28 नंबर पाया से किया जाएगा।

उत्तर बिहार से आने वाले सभी छोटे और निजी व सरकारी वाहनों का परिचालन जेपी सेतु और पीपा पुल से होगा। पीपा पुल पर लाइट की व्यवस्था होने तक पीपा पुल पर सुबह छह बजे से दोपहर डेढ़ बजे तक हाजीपुर से पटना की ओर परिचालन होगा और दोपहर डेढ़ बजे से शाम पांच बजे तक पटना से हाजीपुर के लिए वाहनों का परिचालन वन वे रहेगा। महात्मा गांधी सेतु पर ट्रक, बस, छोटे मालवाहक, ऑटो, कार व बाइक का परिचालन सिर्फ पूर्वी लेन में दोनों ओर से होगा। 30 दिसम्बर से महात्मा गांधी सेतु पर ट्रैक्टर व ट्रॉली का परिचालन बंद रहेगा।ट्रैफिक एसपी पीके दास के मुताबिक बीएसएनएल गोलंबर पर 12, अंजानपीर के पास 8, 3 नंबर ढाला सोनपुर के पास चार, जेपी सेतु बजरंगी चौक पर 12, टॉल टैक्स के समीप 8, गांधी सेतु पाया नंबर एक पर 9, पाया नंबर 8 पर दो, पाया नंबर 16 पर 2, 24 नंबर पर 2, पाया नंबर 28 डायवर्सन के समीप 9, पीपा पुल उत्तरी छोर पर 4 और दक्षिणी छोर पर 4 ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी व जवान को तैनात किया गया है। इसी तरह पाया नंबर 1 से 46 तक क्विक मोबाइल के छह जवान, बीएसएनएल गोलंबर से गांधी सेतु के पाया नंबर एक तक चार, गंडक पुल से जेपी सेतु अंत तक चार तेरसिया दियर से डंका इमली तक चार जवानों को तैनात किया गया है। पर्यवेक्षण में बीएसएनएल गोलबंर से पाया नंबर एक तक तीन और बीएसएनएल गोलंबर से पाया संख्या 46 तक दो अधिकारियों को तैनात किया गया है।

गांधी सेतु एवं इसके समानांतर बने पीपा पुल पर वाहनों का परिचालन गुरुवार को पहले की तरह ही होता रहा। केवल बड़े वाहनों की आवाजाही गांधी सेतु से होने एवं सभी तरह के छोटे वाहनों का परिचालन पहलेजा-दीघा जेपी सेतु एवं पीपा पुल से किए जाने की बदली व्यवस्था का कहीं कोई असर नहीं दिखा। सुबह से लेकर करीब ग्यारह बजे तक घने कोहरे की चादर में लिपटे गांधी सेतु एवं पीपा पुल पर वाहन औसतन पांच से सात किलोमीटर प्रति घंटे की गति से गुजरे। इस दौरान वाहनों के आपस में टकराने तथा दुर्घटनाग्रस्त होने का खतरा बना रहा।

यह भी पढ़े  न्याय मित्रों के रिक्त पदों पर दो महीने में होगी नियुक्ति

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here