कर वंचना करने वाली 24 कम्पनियों पर की गयी कार्रवाई : मोदी

0
77
file photo

वाणिज्य कर विभाग के राजस्व संग्रहण की समीक्षात्मक बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि समीक्षा में 24 ऐसे फर्म पाए गए जिनमें से अधिकांश ने फर्जी कागजात के आधार पर निबंधन करा कर जाली बिल पर 840.92 करोड़ का कारोबार कर करवंचना की है। ऐसे फर्म के खिलाफ वाणिज्यकर विभाग प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई कर रहा है।श्री मोदी ने बताया कि जिन फर्मो के खिलाफ कार्रवाई की गयी है उनमें आयरन एंड स्टील, कोयला व रेडीमेड गारमेंट का कारोबार करने वाले फर्म शामिल हैं। उन्होंने राजस्व संग्रह में पिछले वर्ष 2017-18 की तुलना में 2018-19 में 26.17 प्रतिशत की रिकार्ड वृद्धि के लिए अधिकारियों को बधाई दी और कहा कि 2019-20 के 29 हजार करोड़ राजस्व संग्रह के लक्ष्य को हासिल करना है। इस वर्ष 2,44,609 नए डीलरों ने जीएसटी के अन्तर्गत निबंधन कराया है। नए निबंधित डीलरों के व्यापार स्थल का निरीक्षण कर उनकी जांच की जाएगी। इसके लिए ‘‘जीएसटी फिल्ड विजिट’ नाम से मोबाइल एप विकसित किया गया है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने रिटर्न दाखिल नहीं किया है लेकिन ई-वे बिल जेनरेट कर बाहर से माल मंगाया है वैसे लोगों की बिजनेस इंटेलिजेंस से पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। साथ ही कोचिंग संस्थान, रियल इस्टेट, निर्माण करने वालों पर भी विशेष नजर रखने की हिदायत दी गई है। बैठक में टॉप टैक्सपेयर द्वारा विवरणी दाखिला की अद्यतन स्थिति, निर्धारित बकाया वसूली के लक्ष्य के विरुद्ध अंचलों द्वारा की गई कार्रवाई व वित्तीय वर्ष 2019-20 की प्रथम तिमाही में हुए राजस्व संग्रह आदि की समीक्षा की गई।

यह भी पढ़े  परीक्षा समिति ने रद्द की 47 विद्यालयों की संबद्धता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here