कर्नाटक में किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ

0
48

चुनाव के समय में किए गए वादे को पूरा करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बृहस्पतिवार को किसानों के 34 हजार करोड़ की कर्ज माफी की घोषणा की। कुमारस्वामी ने विधानसभा में अपना पहला बजट पेश करते हुए कहा कि पहले चरण में 31 दिसम्बर 2017 तक के किसानों के ऋण माफ होंगे। उन्होंने किसानों के दो लाख रपए तक के कर्ज माफ करने की घोषणा की। सरकार के इस फैसले से जहां किसानों को बड़ी राहत मिली है वहीं सरकार के पेट्रोल, डीजल पर टैक्स बढ़ाने और बिजली की दरों में वृद्धि करने से कुछ निराशा भी हुई है। विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) ने अपने-अपने घोषणापत्रों में किसानों के कर्ज को माफ करने का ऐलान किया था। कुमारस्वामी ने किसानों की ऋण माफी की घोषणा करते हुए कहा कि जिन किसानों ने उच्च मूल्य फसल ऋण का लाभ उठा चुके हैं वे कर्ज माफी की योजनाओं में शामिल नहीं किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे कई उदाहरण है जहां पर किसानों को 40 लाख रपए से अधिक के ऋण दिये गए हैं। इसी तरह से सरकारी कर्मचारियों, सहकारी क्षेत्रों के कर्मचारियों के परिजनों, पिछले तीन वर्षों से आयकर भुगतान करने वाले किसानों तथा दूसरे कायरें के लिए ऋण लेने वाले लोगों को भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।बजट में बिजली, पेट्रोल और डीजल पर बिक्री कर बढ़ा दिया गया है जिससे यह मंहगे हो गए हैं। पेट्रोल पर बिक्री कर को दो प्रतिशत बढ़ाकर 30 से 32 प्रतिशत करने का ऐलान किया गया है। डीजल पर बिक्री कर 19 से बढ़ाकर 21 प्रतिशत किया गया है। करों में इस बढ़ोतरी से पेट्रोल के दाम 1.14 रपए और डीजल 1.12 रपए प्रति लीटर महंगा हो जाएगा।

यह भी पढ़े  राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here