कर्नाटक की तर्ज पर राजद ने ठोका सरकार बनाने का दावा

0
10

पटना : कर्नाटक में भाजपा को सरकार बनाने का मौका मिलने के बाद विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी सरकार बनाने का दावा ठोक दिया है। तेजस्वी ने बृहस्पतिवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि शुक्रवार को हम अपनी पार्टी के सभी विधायकों के साथ राज्यपाल से मिलेंगे और उनसे कर्नाटक की तर्ज पर राज्य की सबसे बड़ी पार्टी राजद को सरकार बनाने का मौका देने की मांग करेंगे। अगर कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते भाजपा को सरकार बनाने का मौका मिला है, तो बिहार में भी राजद को सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए। तेजस्वी ने कहा कि अगर सरकार बनाने का आधार बड़ी पार्टी है, तो बिहार में भी सबसे बड़ी पार्टी राजद है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में सर्वाधिक 80 सीटें जीतकर राजद सबसे बड़े दल के रूप में उभरा, लेकिन उसे सरकार बनाने का मौका नहीं दिया गया। उस समय यह दलील दी गयी कि बहुमत वाले गठबंधन को सरकार बनाने का न्योता दिया गया है, लेकिन अब कर्नाटक में बहुमत वाली पार्टी के गठबंधन को सरकार बनाने का न्योता दे दिया गया और कहा गया कि गठबंधन के सदस्यों का संख्या बल बहुमत के आंकड़े से ज्यादा है। इसके ठीक उलट कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन के पास बहुमत से ज्यादा विधायक होने के बावजूद इन्हें सरकार बनाने का न्योता नहीं दिया गया। तेजस्वी ने सवालिया लहजे में कहा कि भाजपा किस जनादेश के अपमान की बात कर रही है सबसे पहले भाजपा ने बिहार में जनादेश का अपमान किया था। अब वो कर्नाटक में फिर यही कर रही है। उन्होंने कहा कि मुझे आश्र्चय हो रहा है कि भाजपा किस तरह से बहुमत के लिए जरूरी आंकड़े को जुटायेगी, जबकि उसके पास यह संख्या है ही नहीं। उन्होंने कहा कि भाजपा बहुमत जुटाने के लिए दो फॉमरूले पर काम कर रही है। पहला खरीद फरोख्त और दूसरा अपने राजनीतिक विरोधियों को परेशान करने के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय और आयकर जैसी केन्द्रीय एजेंसियों का उपयोग। तेजस्वी ने सभी विपक्षी राजनीतिक पार्टियों से लोकतंत्र और संविधान को बचाने के लिए राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में एकजुट होने की अपील की

यह भी पढ़े  मंत्रिपरिषद की बैठक में 20 एजेंडों पर लगी मुहर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here