कमजोर होने के कारण कांग्रेस कर रही गठबंधन :अशोक गहलोत

0
12

बिहार दौरे पर आये अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव अशोक गहलोत ने गुरुवार को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मुलाकात की. राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री ने लालू प्रसाद का कुशलक्षेम पूछा और उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की. साथ ही पटना के सदाकत आश्रम पहुंचे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने भाजपा नेताओं से सवाल किया है कि अमित शाह के स्वागत में खर्च होने वाला पैसा कहां से आया. वहीं, बिहार में कांग्रेस की स्थिति का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि समय की मांग के कारण कांग्रेस को गठबंधन करना पड़ रहा है.

लालू-गहलोत की मुलाकात को लेकर सियासी चर्चा गरम
गहलोत दोपहर करीब 11 बजे 10 सर्कुलर रोड पहुंचे. फिस्टुला के आॅपरेशन के बाद अपने घर एकांतवास में स्वास्थ्य लाभ ले रहे लालू प्रसाद ने गहलोत से काफी देर तक गुफ्तगू की. कांग्रेस नेता की आत्मीयता के बीच हुई इस मुलाकात के सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं. हालांकि, इस मुलाकात को लेकर राजद और कांग्रेस दोनों की दलों के नेताओं ने कोई भी बयान नहीं दिया है. हालांकि, लालू प्रसाद से मुलाकात के बाद कांग्रेस कार्यालय पहुंचे अशोक गहलोत ने राजद को यह जरूर कहा कि हम महागठबंधन का हिस्सा हैं और इसमें बने रहेंगे. कांग्रेस नेता ने लालू के साथ मुलाकात के दौरान खींची गयी फोटो ट्वीट भी की है.

 अमित शाह के पटना दौरे पर उठाया सवाल
अशोक गहलोत ने कहा कि पूरा पटना पोस्टर से पटा है. पीएम भी आते हैं तो इतना पोस्टर नहीं लगता. ईमानदारी का चोला पहनने वाली भाजपा के नेताओं का इसका जवाब देना चाहिए. वे गुरुवार को सदाकत आश्रम में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

जदयू-राजद से गठबंधन कांग्रेस की मजबूरी

एक सवाल के जवाब में अशोक गहलोत ने कहा कि किसी जमाने में कांग्रेस अकेले ताकतवर पार्टी थी. खराब व्यवस्था के कारण पार्टी की स्थिति खराब हुई है. इस हाल में कांग्रेस अपने पैरों पर खड़ी नहीं हो पायेगी. ऐसे में समय की मांग के कारण जदयू और राजद से गठबंधन की बातें करना कांग्रेस की मजबूरी है. हालांकि उन्होंने कहा कि राजद से गठबंधन है और हमेशा रहेगा.

यह भी पढ़े  बिहार विस में गूंजा SC/ST एक्ट संशोधन का मामला

नीतीश कुमार को एक दिन होगा पछतावा : गहलोत
इसके साथ ही अशोक गहलोत ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बारे में कहा कि वे रातों रात जाकर सांप्रदायिक ताकतों के साथ बैठ गये. उन्होंने गलत निर्णय लिया है. इसका उनको एक दिन पछतावा होगा. सबको पता है कि नीतीश कुमार भाजपा के साथ सहज नहीं हैं.

मोदी और शाह की जोड़ी को भाजपाई भी पसंद नहीं करते 
अशोक गहलोत ने कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी देश के लिए खतरनाक है. इस जोड़ी को भाजपा के लोग भी पसंद नहीं कर रहे. नरेंद्र मोदी ने अच्छे दिन लाने, विदेशों से कालाधन वापसी और दो करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कही थी, उसका क्या हुआ? उन्होंने एमएसपी की घोषणा कर हौव्वा खड़ा कर दिया है. असत्य बोलने से नरेंद्र मोदी की विश्वसनीयता कम हुई है. 2019 के चुनाव में भाजपा की सरकार नहीं बनेगी.

कार्यकर्ताओं की मांग पर नाराज हुए गहलोत

सदाकत आश्रम में आयोजित कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं ने पार्टी में जिला से प्रखंड तक नये अध्यक्ष की मांग की, इसपर अशोक गहलोत नाराज हो गये. इस पर कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि दूसरे के काम की नुक्ताचीनी न करें, खुद के कामों की समीक्षा करें. उन्होंने कहा कि हम दूसरे नेताओं का ऑडिट नहीं करें, हम यह नहीं देखें कि कौन क्या कर रहे हैं? हमें अपना ऑडिट करना चाहिए कि हम क्या कर रहे हैं?

यह भी पढ़े  तीन दिवसीय शुकराना समारोह का हुआ समापन

बता दें कि अशोक गहलोत गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम पहुंचे. वहां उन्होंने आश्रम परिसर में महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, डॉ राजेंद्र प्रसाद, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. इसके बाद उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here