कड़ी सुरक्षा के बीच श्रीनगर में आज खुलेंगे 190 स्कूल, DC बोले- हालात काबू में,अफवाह के डर से इंटरनेट सेवाएं फिर बंद

0
42

जम्‍मू कश्‍मीर में शांति बहाली की कोशिशों के बीच आज से कश्मीर घाटी के 196 प्राइमरी स्कूल में फिर से पढ़ाई शुरू हो जाएगी। हालांकि हाई स्कूल स्‍तर के स्‍कूलों फिलहाल बंद रहेंगे। इन्‍हें कुछ दिन बाद खोला जाएगा। जम्मू डिवीजन में स्कूल-कॉलेज दोनों खुलेंगे। इसके साथ ही लैंडलाइन सेवाओं को भी आज से बहाल कर दिया जाएगा। पिछले कई दिनों से घरों में कैद बच्चे एक बार फिर स्कूलों की रौनक बढ़ाते नजर आएंगे. हालांकि सीनियर क्लासेज के स्कूलों को अभी खोलने का आदेश नहीं दिया गया है. वहीं, किसी भी अव्यवस्था से निपटने के लिए सुरक्षाबल 24 घंटे मौर्चे पर तैनात कर दिए गए हैं.

जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने रविवार को कहा कि अभी केवल श्रीनगर के 190 प्राइमरी स्कूलों को ही दोबारा खोला जा रहा है. श्रीनगर के जिन क्षेत्रों में स्कूल खोले जाएंगे उनमें लासजान, सांगरी, पंथचौक, राजबाग, जवाहर नगर, नौगाम, गगरीबाल, धारा, थीड, बाटमालू और शाल्टेंग शामिल हैं. कंसल ने कहा कि आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने मद्देनजर जितने भी दिन स्कूल बंद रहे हैं, उनके बदले इस महीने बाद में पूरक कक्षाएं लगाई जाएंगी. राज्य में हालात सामान्य होते ही अन्य जिलों के स्कूलों को भी खोल दिया जाएगा.

यह भी पढ़े  महागठबंधन में सीटों के बंटवारे का फार्मूला तय

बच्चों की सुरक्षा के पूरे इंतजाम
रोहित कंसल ने बताया कि श्रीनगर के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने शनिवार को शिक्षा विभाग के अधिकारियों और स्कूलों के प्रमुखों के साथ बैठक की थी. इस बैठक में जिले के स्कूलों को खोलने पर चर्चा की गई. स्कूलों की सुरक्षा जिला प्रशासन की मुख्य चिंता है और सुरक्षा पुख्ता करने के लिए सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं.

अफवाह फैलाने वालों से सख्‍ती से निपटेगी सरकार 

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के सलाहकार विजय कुमार ने कहा लॉ एंड ऑर्डर बनाए रखना हमारी प्राथमिकता है। हालात सामान्य होने पर ही संचार माध्यम पूरी तरह खुलेंगे। उन्‍होंने कहा कि जम्मू -कश्मीर में माहौल बिगाड़ने वालों से सख्ती से निपटने की तैयारी कर ली गई है। विजय कुमार ने कहा फेक न्यूज फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी।

कई इलाकों में कर्फ्यू में ढील

सरकारी प्रवक्ता रोहित कंसल ने बताया, ‘‘निषेधाज्ञा में ढील देने की प्रक्रिया जारी है। प्रदेश के 50 पुलिस थाना क्षेत्रों में आज प्रतिबंधों में ढील दी गयी जबकि कल 35 थाना क्षेत्रों में ऐसा किया गया था।’’कंसल ने बताया कि सोमवार से नया हफ्ता शुरू हो रहा है और हम इसे नयी आशा के साथ देख रहे हैं। उन्होंने बताया, ‘‘अकेले श्रीनगर में 190 से अधिक प्राथमिक स्कूल कल दोबारा खुल रहे हैं और इसके बाद हम दूसरे क्षेत्रों की ओर देख रहे हैं, जैसे हम विकास से संबंधित गतिविधि शुरू करने की कोशिश कर रहे हैं।’’

यह भी पढ़े  कब गिरफ्तार होंगी मंजू वर्मा, पुलिस कर रही पूर्व मंत्री के कई ठिकानों पर की छापेमारी

घाटी में हालात कंट्रोल में
कंसल ने बताया कि कश्मीर घाटी में पांबदियों में ढील दी जा रही है. स्थानीय अधिकारी हालातों का जायजा ले रहे हैं. वहीं, इस संबंध में श्रीनगर के डीसी ने कहा कि अब काफी हद तक स्थिति कंट्रोल में है. प्रशासन लगातार इस कोशिश में जुटा हुआ है कि जम्मू कश्मीर में लोगों की जिंदगी जल्द से जल्द पटरी पर लौट आए.

लैंडलाइन फोन सेवाएं भी की गईं बहाल
राज्य में सामान्य जनजीवन सुचारू बनाने के उद्देश्य से रविवार को लैंडलाइन फोन सेवाएं भी बहाल कर दी गई. उन्होंने बताया कि 35 पुलिस थाना क्षेत्रों में प्रतिबंधों में ढील दी गई, जबकि 27 टेलीफोन एक्सचेंजों के 50,000 से ज्यादा लैंडलाइन फोन चालू कर दिए गए हैं. जल्द ही कुछ और पाबंदियां हटाई जाएंगी.

मोबाइल इंटरनेट सेवाएं फिर बंद
आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद जम्मू में फैलाई जा रही अफवाहों को देखते हुए रविवार को एक बार फिर पांच जिलों में शुरू की गई 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई. शनिवार सुबह ही टेलीफोन और इंटरनेट सेवा को बहाल किया गया था. अधिकारियों ने बताया कि अफवाहों को फैलने से रोकने और शांति बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया गया.

यह भी पढ़े  भारतीय वायुसेना की कार्रवाई में बालाकोट में जैश के सीनियर कमांडर समेत कई आतंकी मारे गए- विदेश सचिव

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here