कई निवेशकों ने सूबे में निवेश करने की इच्छा जतायी

0
108
PATNA SEDAR PATEL BHVAN NEW POLICE BHVAN RAJBANSI NAGAR CAMPUS BAILY ROAD MEIN TODAY PATNA INDIOTHON 2018 KE PAHLE DIN KA UDGHATAN KERTE DY CM SUSHIL KUMAR MODI

प्रदेश में ही नहीं, पूरे देश में आईटी आइडियाज को नयी दिशा देने के उद्देश्य से आयोजित पटना आईडियाथन 2018 अपने उद्देश्य को प्राप्त करते हुए मंगलवार को सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। यह आयोजन आईटी के क्षेत्र में देश में एक मिसाल स्थापित करने में सफल रहा।समापन की पूर्वसंध्या पर सभी प्रतिभागियों के साथ पटना में एक नेटवकिर्ंग रात्रि भोज का आयोजन किया गया जहां पर प्रतिभागियों को उनके आइडियाज के ऊपर निवेशकों से सीधे बात करने का अवसर मिला। इस दौरान अनेक निवेशकों ने नये आइडियाज के ऊपर बिहार में निवेश करने की इच्छा जतायी। 340 से भी अधिक आइडियाज में कुल 36 टीमों ने इस आयोजन में शिरकत करने की, शतरे को पूरा किया और जूरी मेम्बर्स, सभागार मेंउपस्थित आईटी विभाग के अधिकारियों, निवेशकों और आगंतुक लोगों के समक्ष आईटी क्षेत्र से सम्बंधित अपने नए आइडियाज प्रस्तुत किये। पहले दिन 22 प्रतिभागियों ने अपने नए आईटी आइडियाज को प्रस्तुत किया और जूरी सदस्यों के सवालों का सामना किया। समापन समारोह के दौरान बचे प्रतिभागियों ने भी अपने नये आइडियाज को प्रस्तुत किया।जबकि कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण इन्द्रो नामक रोबोट बना रहा। वैसे तो सभी प्रतिभागी अपने आप में अनोखे और नए आईटी से सम्बंधित नए विचारों के साथ आये थे किन्तु अंतिम में तीन सबसे उत्कृष्ट आईटी आइडियाज को क्रमश: प्रथम, द्वितीए और तृतीय स्तर पर रखते हुए पुरस्कृत किया गया एवं पांच प्रतिभागियों को सांत्वना पुरष्कार से सम्मानित किया गया। समारोह का मुख्य आकर्षण प्रथम, द्वितीए और तृतीय पुरस्कार से सम्मानित सभी टीम्स रहीं। प्रथम पुरस्कार टेस्ट राइड नैनो सिस्टम,द्वितीए पुरष्कार ब्लिस केयर और तृतीय पुरष्कार मिनीओन लैब्स को दिया गया। समापन समारोह के दौरान उपस्थित जूरी सदस्य श्याम सेकर, सुश्री सुरेखा रौतरे, कल्याण कर और विक्रम दुग्गल ने सभी प्रतिभागियों को उनके प्रयासों के लिए प्रोत्साहित करते हुए उन्हें उनके आइडियाज के लिए धन्यवाद भी दिया। साथ में ही विवेक कुमार सिंह, सचिव आईटी सह एमडी बेलट्रॉन,बिहार सरकार एवं इस कार्यक्रम के सहयोगी सीआईआई और केपीएमजीका भी उनके सहयोग के लिए सराहा गया। खास है कि इस आइडियाथॉन में बिहारवासी व मुंबई आईआईटी कंप्यूटर साइंस के तृतीय वर्ष के छात्र अमित कुमार रोड सेफ्टी व दुर्घटना में घायल लोगों को तुरंत इलाज के लिए नये डिवाइस को लेकर आए थे। ज्यूरी के बीच उन्होंने बारीकी से बताया कि किस तरह किसी रोड पर दुर्घटना होने पर उनके द्वारा डेवलप किए गए डिवाइस से अस्पताल को जानकारी मिल जाएगी। साथ ही वाहन ड्राइव कर रहे उस व्यक्ति के करीबी लोग को उसके घायल की जानकारी एसएमएस के जरिए मालूम चल जाएगा। चूंकि दुर्घटना में घायल लोग अपने वारे में कुछ बताने में असमर्थ होंगे वैसी स्थिति में डिवाइस वरदान का काम करेगा।

यह भी पढ़े  पिछले वर्ष की तुलना में एसीपी नौ फीसदी कम होना चिंताजनक : उपमुख्यमंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here