कंप्यूटर स्क्रीन से आंखों को उचित दूरी पर रखें

0
129

कंप्यूटर पर काम करते समय कंप्यूटर और आंखों के बीच उचित दूरी बनाये रखें। आंख में धूल या कचरे का कण जाने पर आंखों को मलें नहीं। साल में एक बार नेत्र रोग विशेषज्ञ से आंखों की जांच कराना भी जरूरी है। शनिवार से शुरू हुए पटना ऑप्थॉल्मोलॉजिकल सोसाइटी के दो दिवसीय चौथे वार्षिक सम्मेलन में पूरे देश से नेत्र रोग विशेषज्ञ भाग ले रहे हैं। इसका उद्घाटन मुंबई के पद्मश्री डॉ. एस नटराजन ने किया। आईजीआईएमएस के रीजनल इंस्टीटय़ूट ऑफ ऑप्थल्मोलॉजी में आयोजित सम्मेलन के दौरान दिल्ली से पटना के लिए नेत्र शल्य चिकित्सा का पहला लाइव सैटेलाइट टेलीकास्ट हुआ। कार्यक्रम स्थल पर मौजूद डॉक्टरों ने लाइव सर्जरी देखी और दिल्ली के सर्जन से बातचीत भी की। दिल्ली से डॉ. महिपाल ने सर्जरी की। डॉ. महिपाल ऑल इंडिया नेत्र रोग सोसाइटी के अध्यक्ष हैं। डॉ. कृष्ण प्रसाद कुडलू ने कहा कि चालीस प्रतिशत मधुमेह पीड़ित लोग मधुमेह जनित रेटिनौपैथी से पीड़ित हो जाते हैं। बिहार ऑप्थॉल्मोलॉजिकल सोसाइटी के सचिव डॉ. सुनील कुमार सिंह ने नियमित रूप से आंखों की जांच कराने की सलाह दी। मौके पर आईजीआईएमएस के निदेशक डॉ. एनआर विास, डॉ. बी चौधरी, डॉ. पार्थ विास, डॉ. नीलेश मोहन, डॉ. सुनील परमार, डॉ. सत्यजीत सिन्हा, डॉ. शरत कुमार, डॉ. अजीत सिन्हा, डॉ. प्रणव रंजन, डॉ. पूजा सिन्हा, डॉ. अजय सिन्हा, डॉ. सुजीत मिश्रा, डॉ. एस पी सिन्हा, डॉ. प्रियंका, डॉ. ज्ञान भास्कर, डॉ. जेजी अग्रवाल आदि भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़े  सभ्यता द्वार हमारे वैभवशाली इतिहास का प्रतीक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here