औरंगाबाद, समस्तीपुर के बाद अब नवादा में हिंसक झड़प

0
107

समस्तीपुर, औरंगाबाद, नालंदा और मुंगेर के बाद अब नवादा में भी कथित तौर पर कुछ उपद्रवियों द्वारा एक प्रतिमा खंडित करने की खबर के बाद दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट और रोड़ेबाजी हुई। जिसके बाद दोनों पक्षों के बाद तनाव की स्थिति से निपटने के लिए तुरत पुलिस की टीम ने मोर्चा संभाल लिया है। 

बिहार में हिंसा की आग बुझने का नाम नहीं ले रही हैं. बीते कुछ दिनों से बिहार के कई जिले हिंसा की आग से जल रहे हैं. मगर भागलपुर, औरंगाबाद और समस्तीपुर के बाद अब नावादा जिले का नाम भी शामिल हो गया है. बिहार में रामनवमी के बाद भड़की हिंसा अभी शांत भी नहीं हुई थी कि एक बार फिर वहां पर माहौल बिगड़ गया है. बिहार के नवादा में मूर्ति तोड़े जाने को लेकर दो समुदाय के बीच काफी झड़प हुई है. हिंसा में कई गाड़ियों के शीशे तोड़े गए हैं. हालात को काबू में लाने के लिए पुलिस ने अभी तक 10 राउंड की फायरिंग की है. नवादा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का संसदीय क्षेत्र है. बताया जा रहा है कि कल रात को नवादा बाईपास पर एक मूर्ति को तोड़ दिया गया था. जिसके बाद से ही हालात बेकाबू होते चले गए. गाड़ियों को तोड़ने के अलावा कई दुकानों में भी आग लगा दी गई. जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है. हालांकि, इस हिंसा को देखते हुए इलाके में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है.

यह भी पढ़े  केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित के खिलाफ भागलपुर में केस दर्ज

नवादा के जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि कुछ असमाजिक तत्वों ने एक मूर्ति को तोड़ दिया, जिसकी वजह से दोनों समुदाय के लोग आपस में भिड़ गये. हालांकि अब हालात नियंत्रण में हैं.

गौरतलब है कि रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान बिहार के कई इलाकों में हिंसा की खबरें आई थीं जिसमें कई लोग घायल भी हुए थे. बिहार के मुंगेर, औरंगाबाद, समस्तीपुर में हिंसा हुई थी, जिसके बाद लगातार मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर सवाल उठ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here