औरंगाबाद डीएम के ठिकानों पर सीबीआई रेड , दर्ज हुआ एफआईआर

0
151

औरंगाबाद डीएम कंवल तनुज के स्तर पर नवीनगर में तैयार हो रही बिजली परियोजना में जमीन अधिग्रहण से संबंधित काफी बड़ी धांधली सामने आयी है. इस मामले में सीबीआई ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई की. सीबीआई ने डीएम के िखलाफ एफआईआर दर्ज करने के साथ ही औरंगाबाद, नयी दिल्ली, नोएडा और लखनऊ में छह ठिकानों पर व्यापक छापेमारी की. इन स्थानों में औरंगाबाद डीएम के आवास के अलावा लखनऊ और नोएडा में डीएम का पैतृक घर एवं ससुराल तथा नयी दिल्ली स्थित इस धांधली में संलिप्त बीआरबीसीएल (भारतीय रेल बिजली कंपनी लिमिटेड) के सीईओ सी. शिव कुमार का दफ्तर और आवास शामिल हैं. 

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को औरंगाबाद के जिलाधिकारी कंवल तनुज के छह ठिकानों पर छापेमारी की। डीएम के औरंगाबाद स्थित सरकारी आवास, लखनऊ एवं नोएडा स्थित निजी ठिकाने पर छापेमारी एक साथ की गयी। जिलाधिकारी पर नवीनगर में बीआरबीसील-एनपीजीसीएल की दो निर्माणाधीन बिजली परियोजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण में 2 करोड़ रुपये से अधिक की रिश्वतखोरी का आरोप है। कार्रवाई के संबंध में अब तक किसी भी अधिकारी ने कुछ भी बताने से इनकार किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सीबीआई की दिल्ली शाखा ने 21 फरवरी को औरंगाबाद जिलाधिकारी के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसमें डीएम कंवल तनुज के अलावा बीआरबीसीएल के सीईओ एस शिवकुमार एवं अन्य को आरोपी बनाया गया है। छापेमारी के वक्त डीएम के सरकारी आवास के अंदर किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी गयी। काफी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। डीएम आवास के पास जमे मीडियाकर्मियों को भी आवास से दूर कर रखा गया। बताया जाता है कि सीबीआई की टीम सुबह करीब 9 बजे चार गाड़ियों से डीएम के आवास पर पहुंची। पहुंचते ही आवास पर तैनात सभी कर्मियों और सुरक्षा बलों को बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद मुख्य गेट को बंद कर तलाशी अभियान शुरू किया गया। सूत्रों के अनुसार डीएम की गोपनीय शाखा में ताला जड़ दिया गया है। इसके अलावा कुछ अन्य कमरों में भी ताला जड़ते हुए सभी लोगों को बाहर किया गया। कुछ कर्मियों ने जब जानकारी लेने का प्रयास किया, तो उन्हें भी वहां से हटने का निर्देश दिया गया। सूत्रों के अनुसार डीएम आवास के विभिन्न कमरों सें मामले से संबंधित फाइलों को समेटते हुए एक कमरे में रख दिया गया है। सीबीआई ने डीएम के जमीन और बैंक डिटेल संबंधी पेपर की जांच की।कार्रवाई के बारे में सीएम को भी है पता : छापेमारी करने पहुंची सीबीआई की टीम को यहां कर्मियों का भी विरोध भी झेलना पड़ा। डीएम आवास में बतौर आदेशपाल काम कर रहे राकेश ने बाहर निकलने पर कहा कि टीम ने सभी लोगों को एक जगह किया, तो उन्होंने विरोध जताया। इस पर एक अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री को भी पता है, इसलिए घबराओ नहीं। इसके बाद जांच शुरू हो गई।

यह भी पढ़े  निलंबित एसएसपी के चार लॉकर से मिले 1.44 करोड़ ,102 घंटे तक चली छापेमारी

सीबीआई के प्रवक्ता देंगे विस्तृत जानकारी : टीम में शामिल दो अधिकारी डीएम के आवास से करीब एक बजे बाहर निकले लेकिन उन्होंने कुछ भी नहीं कहा। सिर्फ इतना कहा कि मामले में स्पोक्सपर्सन ही कुछ बतायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here