एनडीए के साथ रहेंगे या उनका साथ छोड़ देंगे कुशवाहा सस्पेंस बरकरार

0
53

बिहार की सियासी गलियारों में कयास लगाए जा रहे थे कि आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा एनडीए छोड़ने का बड़ा फैसला ले सकते हैं. बताया जा रहा था कि कुशवाहा एनडीए छोड़ने का ऐलान कर सकते हैं. लेकिन मोतिहारी में पार्टी अधिवेशन के संबोधन में वह गोल-गोल बात करे रह गए और बीजेपी-जेडीयू पर निशाना साधते रहे, लेकिन यह नहीं कहा कि वह एनडीए के साथ रहेंगे या उनका साथ छोड़ देंगे.

उपेंद्र कुशवाहा ने फिलहाल एनडीए छोड़ने का ऐलान नहीं किया है, लेकिन एनडीए छोड़ने के लिए उन्होंने अपनी बगावती शुरू से सभी को इशारा कर दिया है. वहीं, सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि उपेंद्र कुशवाहा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं.

सूत्रों की मानें तो उपेंद्र कुशवाहा आगामी 10 दिसंबर को राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं. बताया जाता है कि कुशवाहा अपनी पार्टी और अपनी राजनीति के लिए आगे का विकल्प तलाश रहे हैं. फिलहाल उनके पास एनडीए छोड़ने के बाद महागठबंधन ही सामने दिख रहा है. हालांकि उपेंद्र कुशवाहा अपनी चालाक रणनीति के लिए भी जाने जाते हैं. उन्होंने अपनी रणनीति के बदौलत ही आरएलएसपी पार्टी जो महज 5 साल पुरानी है राष्ट्रीय स्तर की सुर्खियों में नजर आ रही है.

यह भी पढ़े  बिहार: TET 2017 का संशोधित रिजल्‍ट जारी, 8349 परीक्षार्थी हुए सफल,

राजनीतिक जानकारों की मानें तो उपेंद्र कुशवाहा ने अभी एनडीए छोड़ने की घोषणा इसलिए नहीं की है, क्योंकि वह आगे का रास्ता साफ रखना चाहती है. इसलिए हर कदम फूंक-फूंक कर रख रही है. वहीं, उपेंद्र कुशवाहा के साथ सीट शेयरिंग का भी मसला काफी बड़ा है.

एनडीए में भी सीट शेयरिंग के मामले पर ही पेंच फंसा था. जानकारों की मानें तो बीजेपी उनकी पार्टी के हैसियत हिसाब से 2 सीट देने को तैयार हैं लेकिन कुशवाहा 3 से अधिक सीट की मांग कर रहे हैं. वहीं, अब महागठबंधन के साथ होने से पहले वह शायद सीट शेयरिंग का फैसला पहले ही कर लेना चाहते हैं. ऐसे में शायद राहुल गांधी से मुलाकात कर वह पहले ही इस पर विचार विमर्श करना चाहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here