उम्मीद है जल्द PoK भारत का भौगोलिक हिस्सा होगा:विदेश मंत्री एस जयशंकर

0
43

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने PoK को लेकर बड़ा बयान दिया है. एस. जयशंकर ने कहा कि पीओके भारत का हिस्सा है, भरोसा है हमारे नियंत्रण में होगा. एस. जयशंकर ने कहा कि एनआरसी हमारा हक है. और यह भी एक आंतरिक मामला है. पकिस्तान को ये देखना चाहिए कि वह अपने अल्पसंख्यकों के साथ कैसा व्यवहार कर रहा है. इससे पहले कि वो हम पर सवाल उठाए, वहां अल्पसंख्यकों का नंबर लगातार गिर रहा है और धर्मांतरण किए जा रहे हैं.” एस. जयशंकर सरकार के 100 दिन पूरे होने के मौके पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बोल रहे थे.

उन्होंने कहा कि इस अवधि में सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धियां राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति के लक्ष्यों के बीच मजबूत संबंध स्थापित करने की है। विदेश मंत्री ने कहा, ‘‘भारत की आवाज अब वैश्विक मंच पर कहीं अधिक सुनी जा रही, चाहे वह जी 20 हो या जलवायु सम्मेलन हो।’’ उन्होंने कहा कि सरकार के पहले 100 दिनों के कार्यकाल में ‘पड़ोस प्रथम’को मजबूती से आगे बढ़ाया गया और खास तौर पर सम्पर्क एवं वाणिज्य पर जोर दिया गया।

यह भी पढ़े  केवल तेजस्वी के लिये ही जागी थी नीतीश की अंतरात्मा ? : राबड़ी

प्रधानमंत्री ने पड़ोस में मालदीव, श्रीलंका, भूटान जैसे देशों की यात्रा की। विदेश मंत्री ने कहा कि वह स्वयं भूटान, बांग्लादेश, मालदीव गए। इन यात्राओं के दौरान परियोजनाओं पर ध्यान देने के साथ ही कारोबारी संबंध तथा लोगों के बीच संबंधों पर खास जोर दिया गया। पाकिस्तान का नाम लिये बिना उन्होंने कहा, ‘‘हमें एक पड़ोसी से अलग तरह की चुनौती है, उसके एक सामान्य पड़ोसी बनने और आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने तक यह बनी रहेगी। ’’ जयशंकर ने यह भी कहा कि सीमा पार से होने वाले आतंकवाद, अनुच्छेद 370 को हटाये जाने जैसे मुद्दे पर भारत के पक्ष से वैश्विक जगत को अवगत कराया गया।

कई मुद्दों पर रखी बात

प्रेस कॉन्फ्रेंस में विदेश मंत्री ने कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. कुलभूषण जाधव मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य उनको कॉन्सुलर एक्सेस दिलाना था. अब हम निर्दोष व्यक्ति को अपने देश वापस लाने का समाधान निकाल रहे हैं. उन्होंने कहा कि जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर हमारा अनुरोध है. हम उसे वापस चाहते हैं और हम उसपर काम कर रहे हैं. वहीं उन्होंने कहा कि जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर हमारा अनुरोध है. हम उसे वापस चाहते हैं और हम उसपर काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़े  सुधर जाइये, हमारा शासन आने वाला है :तेजप्रताप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here