उप चुनाव में मिली हार व जीत दोनों की समीक्षा होगी : मोदी

0
284

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बिहार की तीन सीटों पर हुए उपचुनाव परिणाम पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अररिया लोकसभा सीट से भले ही हमारी पार्टी के उम्मीदवार हार गये हैं, लेकिन उसमें शामिल छह में से चार विधानसभा सीटों पर भाजपा को बढ़त मिली है। राजद उम्मीदवार को दो विधानसभा सीटों अररिया और जोकीहाट में करीब एक लाख तीस हजार वोटों की बढ़त मिली। इस कारण हम चुनाव हार गये हैं। वहीं भभुआ विधानसभा उप चुनाव में हमारी पार्टी ने जीत दर्ज की है। हमारी जीत के अंतर में भी वृद्धि हुई है। 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार आनंद भूषण पांडेय साढ़े सात हजार वोटों के अंतर से जीत दर्ज की थी। जबकि उनकी पत्नी रिंकी रानी पांडेय ने 15 हजार से अधिक वोटों से जीत दर्ज की है। इस तरह आठ विधानसभा सीटों पर हुए चुनाव में पांच में बढ़त मिली है। 2009 के लोकसभा चुनाव के बाद 18 सीटों पर हुए उपचुनाव में अधिकतर सीटों पर राजद उम्मीदवार की जीत हुई थी,लेकिन 2010 के बिहार विधानसभा चुनाव में जो परिणाम आये सबके सामने हैं। उन्होंने कहा कि उप चुनाव में मिली हार और जीत दोनों की समीक्षा होगी। लोकसभा चुनाव से करीब एक साल पहले हमको झटका लगा है। जिससे संभलने का मौका मिल गया है।

पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि अररिया संसदीय क्षेत्र से उपचुनाव में जीत पर राजद को खुशी मनाने का कोई कारण नहीं दिखता है। पूरे राज्य में इस उपचुनाव में सहानुभूति के आधार पर जनता ने वोट दिया है। राजद प्रत्याशी को भी इसका लाभ मिला है। किन्तु सहानुभूति लहर होने के बावजूद अररिया लोकसभा क्षेत्र के चार विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा ने बढ़त हासिल की। राजद ने केवल दो विधानसभा में ही लीड किया।श्री यादव ने आज यहां राजद सहित महागठबंधन के नेताओं के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि अररिया के छह में से चार विधानसभा क्षेत्रों फारबिसगंज, सिकटी, रानीगंज और नरपतगंज में भाजपा ने राजद को पराजित किया। इन चार विधानसभा क्षेत्रों में से नरपतगंज विधानसभा क्षेत्र से राजद ने विधानसभा में जीत हासिल की थी जबकि इस लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत हुई। सिर्फ अररिया और जोकीहाट जहां उन्होंने धर्म के आधार पर वोटों का ध्रुवीकरण किया है,वहीं से राजद प्रत्याशी की जीत हुई है।

यह भी पढ़े  सुप्रीम कोर्ट से ED मामले में चिदंबरम को राहत मिली, जब तक CBI की गिरफ्त में हैं तब तक ED की गिरफ्तार पर रोक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here