ई़एसआई से जोड़ने को चलेगा जागरूकता अभियान : मंत्री

0
18

श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में ईएसआईसी के क्षेत्रीय निदेशक एवं अन्य वरीय पदाधिकारियों के साथ हुए बैठक में ईएसआईसी के पदाधिकारियों ने जानकारी दी कि बिहार में 2016-17 तक तीन लाख सतासी हजार संस्थान के कर्मचारियों का निबंधन किया गया था। जबकि 2017-18 के एक वर्षीय सत्र में कर्मचारी राज्य बीमा निगम द्वारा लगभग एक लाख पच्चीस हजार संस्थान के कर्मियों द्वारा निबंधन कराया गया है।ईएसआईसी से पूरे बिहार में संस्थान के रूप में 61 अस्पताल निबंधित हैं। पटना महानगर में 31 अस्पताल निबंधित हैं। इनमें महावीर कैंसर संस्थान, महावीर वात्सल्य, राजेश्वर अस्पताल, उद्यन अस्पताल, पालिका विनायक एवं रूबन जैसे महत्वपूर्ण अस्पताल पहले से निबंधित हैं। पटना के एक महत्वपूर्ण कुर्जी हॉली अस्पताल को ईएसआईसी से जोड़ने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। इसी तरह वंचित संस्थान, जैसे-स्कूल, सिनेमा हॉल, आउट सोर्सिंग के द्वारा मानव बल आपूत्तर्ि करने वाले संस्थान इत्यादि को जोड़ने का अभियान शुरू करने निर्णय मंत्रालय ने लिया है। इस बीमा योजना से निबंधित संस्थान के कर्मचारी एवं उन पर आश्रित परिवार को मेडिकल की सुविधा दी जाती है। संस्थान के कर्मचारी के दुघर्टनाग्रस्त होने पर अवकाश की अवधि के भुगतान की सुविधा, महिला कर्मचारियों को मातृत्व अवकाश के दौरान अवकाश भुगतान की सुविधा एवं बीमारी के दरम्यान अवकाश की अवधि के भुगतान की सुविधा संस्थान द्वारा उपलब्ध करायी जाती है। श्रम मंत्री ने ईएसआईसी से अधिक से अधिक श्रमिकों को जोड़ने के लिए जागकता अभियान चलाने को कहा है। गौरतलब है कि सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की तरह कर्मचारी राज्य बीमा योजना भी अंशदायी स्वास्य बीमा योजना है। इसके तहत नियोजकों एवं कर्मचारियों से मजदूरी की निर्धारित प्रतिशतता के रूप में अंशदान लिया जाता है। इस योजना से वैसे संस्थान/प्रतिष्ठान जिसमें 10 या 10 से ज्यादा कर्मचारी कार्यरत हैं, जुड़ सकते हैं।

यह भी पढ़े  दलितों को गुमराह कर रहे विरोधी दल : मोदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here