इस वर्ष के अंत तक किसानों को सोलर एनर्जी से भी बिजली की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी:मुख्यमंत्री

0
12

‘‘मौजूदा समय में सौर ऊर्जा अहम हो गयी है। वर्ष 2019 के अंत तक राज्य के सभी इच्छुक किसानों को सोलर एनर्जी वाले बिजली का कनेक्शन मुहैया करा दिया जाएगा। ग्रिड से आपूत्तर्ि होने वाली बिजली पर लोगों की आत्मनिर्भरता कम हो और सोलर एनर्जी से पर्याप्त बिजली लोगों को मिल सके, इसके लिए सरकार कृत संकल्पित है।’ ये बातें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को रामनगर प्रखंड के दोन इलाके के चंपापुर गांव में कहीं। मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत चल रहे विकास कायरे का जायजा लेने के लिए यहां पहुंचे थे। इस दौरान मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में ग्रिड से संबधित बिजली की कमी पूरी दुनिया को झेलनी पड़ेगी। ऐसे में सोलर एनर्जी एक बहुत सशक्त माध्यम है। सरकार ने सुदूर इलाके खासकर जंगल और पहाड़ी क्षेत्रों जहां ग्रिड के माध्यम से बिजली पहुंचाने में पर्यावरण को भी नुकसान होता है, वहां सोलर एनर्जी के माध्यम से बिजली पहुंचाने का लक्ष्य सरकार ने निर्धारित किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुसुचित जाति व जनजाति आवासीय विद्यालयों में भी सोलर एनर्जी से बिजली आपूत्तर्ि करने का सरकार ने लक्ष्य निर्धारित किया है। जिन विद्यालयों में बिजली की सुविधा नही है, वहां जनरेटर की व्यवस्था की जायेगी, ताकि गर्मी के दिनों में बच्चों को पढ़ने में परेशानी न हो। इससे पहले सीएम ने चंपापुर में 200 और 65 केवी की क्षमता के सोलर प्लांट का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि उन गावों में जहां के घरों में बिजली पहुंचा दी गयी है, वहां पोल पर भी बल्ब लगवाकर इलाके को रोशन करने की व्यवस्था करें।

यह भी पढ़े  आरजेडी के पोस्टर में सीएम नीतीश को 'रावण' के रूप में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here