आसियान में नरेंद्र मोदी : राइस रिसर्च इंस्टीट्यूट का लिया जायजा, अब डोनाल्ड ट्रंप से द्विपक्षीय वार्ता शुरू

0
40

मनीला : आसियान शिखर सम्मेलन में भाग लेेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिलिपीन के दौरे पर हैं. अपने तीन दिन के इस महत्वपूर्ण दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज फिलिपीन के लोस बानोस स्थित इंटरनेशनल राइस रिसर्च इंस्टीट्यूट गये. उन्होंने वहां श्री नरेंद्र मोदी रिजिल्यंट राइस फिल्ड लेबोरेटरी का उदघाटन किया. उन्होंने वहां खेत की मिट्टी भी कोड़ी. इस दौरान उन्होंने वहां धान के उत्पादन में ड्रोन तकनीक के उपयोग के बारे में जाना. उन्होंने इस दौरान राइस जीन बैंक को भारतीय धान की जो प्रजातियों के बीज सौंपे. बाद में उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी कि भारत ने इंटरनेशनल राइस रिसर्च इंस्टीट्यूट में योगदान दिया है और दो धान बीज उसे सौंपे. दोपहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय बातचीत शुरू हुई. इस दौरान दोनों तरह से प्रतिनिधिमंडल मौजूद हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आरंभिक संबोधन में ट्रंप को प्रस्ताव दिया कि हम दोनों देश एिशया के भविष्य के लिए साथ ही दुनिया के लिए मिलकर काम कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि भारत विश्व व अमेरिका की अपेक्षा पर खरा उतरता रहेगा.

यह भी पढ़े  भारतीय सेना ने PoK में घुसकर 3 पाकिस्तानी सैनिकों को किया ढेर

प्रधानमंत्री ने अपनी ट्वीट श्रृंखला में कहा है कि इंटरनेशनल राइस रिसर्च इंस्टीट्यूट में जाना मेरे लिए सीखने का एक बड़ा अनुभव था. मैंने वहां देखा कि संस्थान कैसे भूख से निबटने के लिए चावल के उत्पादन के जरिये काम कर रहा है. उनके काम से बहुत सारे किसानों एवं ग्राहकों को लाभ होता है, खास कर एशिया व अफ्रीका में. उन्होंने लिखा कि वे वहां भारतीय वैज्ञानिकों, छात्रों से भी मिले. इस प्रतिष्ठित कृषि संस्थान में कई  भारतीय वैज्ञानिक कार्य करते हैं और भारतीय छात्र शिक्षा पाते हैं.

 प्रधानमंत्री आज महावीर फाउंडेशन भी गये.

ट्रंप से की मुलाकात 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से दोपहर में मुलाकात की. कुछ ही महीनों के अंतराल पर दोनों नेताओं की यह मुलाकात हुई है. इस मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी एवं अमेरिकी राष्ट्रपति ने गर्मजोशी से हाथ मिलाया. इस दौरान मोदी ने कहा कि विश्व व एशिया में भारत में अपनी अहम भूमिका निभायेगा. उन्होंने राष्ट्रपति ट्रंप की प्रशंसा करते हुए कहा कि इन्होंने हर जगह भारत के साथ अपने संबंधों के संबंध में उच्च अभिप्राय व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि हम अपने रिश्तों के लेकर आशावादी हैं. मोदी ने कहा कि भारत अमेरिका की अपेक्षा पर खरा उतरेगा. इस द्विपक्षीय वार्ता में आतंकवाद अहम मुद्दा होगा.

यह भी पढ़े  आसियान सम्‍मेलन से पहले भारत ने 'लुक ईस्ट' की पॉलिसी बदलकर 'एक्ट ईस्ट' की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here