आरा में गैंगवार, दो युवकों को गोलियों से भूना

0
132

शहर में शुक्रवार की देर शाम गैंगवार में दो युवकों को गोलियों से भून डाला गया। इसमें एक की मौके पर ही मौत हो गयी, जबकि दूसरे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर हथियार लहराते हुए भाग गये। इस दौरान हमलावरों द्वारा करीब पंद्रह से बीस राउंड फायरिंग की गयी। इससे स्टेशन परिसर व आसपास के इलाके में दहशत फैल गयी। हत्या की यह वारदात रेलवे स्टेशन परिसर में देर शाम करीब आठ बजे हुई। घटनास्थल से एक गोली व आठ खोखे बरामद किये गये हैं। घटनास्थल से मृतकों की बाइक भी मिली है। हत्या व फायरिंग की सूचना से पूरे शहर में सनसनी फैल गयी। घटना के बाद स्टेशन रोड की अधिकांश दुकानों के शटर गिर गए और लोग अफरा-तफरी में इधर-उधर भागने लगे। देखते ही देखते पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। पुलिस के वरीय पदाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन में जुट गए।

मृतकों में शहर के नगर थाना क्षेत्र के भलुहीपुर इमामबाड़ा निवासी हाकिम राइन व बिंदटोली निवासी बोतल बिंद शामिल हैं। हाकिम राइन का आपराधिक इतिहास रहा है। उस पर हत्या व लूट सहित आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। उस पर राजद नेता एकराम के बेटे की हत्या का भी आरोप है। दोनों मृतक पिंटू तेली गिरोह के सदस्य बताये जा रहे हैं। हत्या की सूचना मिलते ही एसपी अवकाश कुमार सहित कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गयी। घटना के संबंध में बताया जाता है कि मो. हाकिम राइन व पंकज उर्फ बोतल बिंद शुक्रवार की देर शाम चाय पीने के लिए स्टेशन गये थे। तभी बाइक पर सवार अपराधी आ धमके और दोनों को गोलियों से भून दिया। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गयी है। बिंद टोली वार्ड नंबर-5 निवासी मृतक पंकज बिन्द उर्फ बोतल बिन्द सेंटरिंग का काम करता था। वह अविवाहित था तथा चार भाइयों में सबसे बड़ा था।


रेलवे स्टेशन परिसर मे प्रोपर्टी डीलर एवं ठेकेदार को गोली मारने के बाद वहां मची अफरा तफरी के बीच हथियारबंद अपरराधियों को वहां पैदल ही भागना पड़ा। इस घटना के बाद जीआरपी पुलिस ने रेलवे स्टेशन परिसर से संदिग्ध स्थिति में दो बाइक बरामद किया है, जिसमें से एक में चाबी भी लगी हुंई थी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हथियारबंद अपराधियों की संख्या पांच थी, जो बाइक पर सवार होकर आए थे। इस घटना में गोली लगने के बाद ठेकेदार की मौके पर ही मौत हो गई थी, जिसके शव को तुरंत जीआरपी पुलिस ने अंत्यपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मृत ठेकेदार बोतल ¨बद नगर थाना क्षेत्र के ¨बदटोली मुहल्ला निवासी दिनेश प्रसाद का पुत्र बताया जाता है, जो मकान बनाने के लिए सेंटरिंग का ठेका लेता था। वही अपराधियों की गोली से जख्मी हुआ प्रापर्टी डीलर हाकिम नगर थाना क्षेत्र के भलुहीपुर निवासी मो हाफिज का पुत्र बताया जाता है। गोली लगने के बाद उसे जीआरपी पुलिस इलाज के लिए सदर अस्प्ताल ले जाने की तैयारी कर ही रही थी कि उसने भी रेलवे स्टेशन परिसर में ही दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद जीआरपी पुलिस ने उसके शव को भी अंत्यपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

यह भी पढ़े  आज पटना व मोकामा के दौरे पर पटना पहुचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

2013 में जेल गया था हाकिम मियां, फिर हो गई थी रिहाई  :रेलवे स्टेशन कैंपस में मारा गया हाकिम मियां मर्डर केस के मामले में पांच साल पहले जेल गया था। हालांकि, बाद में उसकी रिहाई हो गई थी। सनद हो कि साल 2013 में राजद नेता मों एकराम के बेटा मों अबू की धरहरा इलाके में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसमें भलुहीपुर निवासी मो हाफिज के पुत्र हाकिम मियां का नाम आया था। पुलिस के अनुसार इस केस में वह जेल भी गया था। बाद में उसकी रिहाई हो गई थी।

सी कंपनी से भी जुड़ा रहा कनेक्शन :बताया जा रहा कि रेलवे स्टेशन पर मारे लोगों का कनेक्शन आरा के कुख्यात च्सी च् कंपनी से भी जुड़ा रहा है। यह कंपनी आरा शहर में जमीन पर दखल-कब्जे का भी काम करती है। पूर्व में भी जमीन पर दखल कब्जे को लेकर घटना हत्या म़े गैंग के गुगोर्ं का नाम सामने आया है। हाकिम के बारे में बताया जा रहा कि जमीन के साथ साथ नगर निगम में आटो एजेंटी का भी काम संभालता था।हालांकि, पुलिस शुरुआती जांच में जमीन से ही जोड़कर इस घटना को देख रही हैं।

यह भी पढ़े  सीएम के गृह जिले में अपराधियों का कहर, 48 घंटे के दौरान 6 लोगों को मारी गोली, तीन की मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here