आबादी के अनुपात में मिले मल्लाहों को आरक्षण : मंत्री

0
77
file photo

पटना – खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी ने प्रधानमंत्री से मल्लाह-निषाद एवं उपजातियों को आदिवासी में शामिल करने और आबादी के अनुपात में आरक्षण का दायरा बढ़ाने की मांग की। उन्होंने कहा कि इसके लिए हम समाज के प्रतिनिधिमंडल के साथ केन्द्रीय जनजातीय कार्य मंत्री जुएल ओराम से मिलने जायेंगे। मंत्री सहनी सोमवार को निषाद-मल्लाह समाज की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने निषाद-मल्लाह एवं उप-जातियों को आदिवासी में शामिल कराने के लिए केन्द्रीय जनजातीय कार्य मंत्रालय को इन्थनोग्राफिक्स रिपोर्ट के साथ अनुशंसा भेजी है। इसके लिए पूरे समाज की ओर से हम उन्हें आभार प्रकट करते हैं। उन्होंने कहा कि पहले मत्स्यजीवी सहयोग समिति का चुनाव पांच साल में होता था, इसकी बंदोवस्ती सात साल में होती थी और पट्टा हर साल होता था। इससे विवाद की स्थिति उत्पन्न होती थी। इसलिए सरकार ने बंदोवस्ती और पट्टा को भी 5 साल के लिए करने का निर्णय लिया है। सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह ने मौके पर कहा कि अफवाह थी कि महिला मत्स्यजीवी सहयोग समिति का गठन किया जायेगा। इसमें अन्य वर्ग की महिलाओं को भी शामिल किया जायेगा। ऐसी कोई भी योजना नहीं बनायी गयी है। बैठक का संचालन विजय कुमार सहनी ने किया। बैठक में भीष्म सहनी, ई. सत्येन्द्र कुमार सहनी, अरुण सहनी, शिवांकर निषाद, ऋषिकेश कश्यप, राकेश कुमार निषाद, राधेश्याम सहनी, संतोष कुमार सहनी, हरेन्द्र सहनी, लव किशोर सहनी, रंजीत सहनी आदि भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े  बिहार में राष्ट्रपति शासन जैसे हालात, अगले CM होंगे तेजस्वी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here