आज 28 जनवरी 2019 का इतिहास

0
117

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 28 जनवरी वर्ष का 28 वाँ दिन है। साल में अभी और 337 दिन शेष हैं। (लीप वर्ष में 338 दिन)

28 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1556- मुग़ल शासक हुमायूँ की मौत हो गई थी। 1813 – युनाइटेड किंगडम में पहली बार ‘प्राइड एंड प्रेजुडिस’ किताब का प्रकाशन हुआ। 1835 – पश्चिम बंगाल में कलकत्ता मेडिकल कॉलेज की शुरुआत हुई। 1860 – ब्रिटेन ने औपचारिक रूप से निकारागुआ को मास्क्विटो तट लौटा दिया। 1878 – ‘येल डेली न्यूज़’ युनाइटेड स्टेट्स में प्रकाशित होने वाला पहला दैनिक समाचारपत्र बना। अमेरिका के न्यू हेवन में पहला टेलीफोन एक्सचेंज बना। 1887 – फ्रांस की राजधानी पेरिस में एफिल टाॅवर का काम शुरू। 1909 – क्यूबा पर से अमेरिका का नियंत्रण समाप्त हो गया। सेना के प्रथम भारतीय सेनाध्यक्ष के.एस. करियप्पा का जन्म। 1932 – जापानी सेना ने शंघाई (चीन) पर कब्ज़ा किया। 1933 – चौधरी रहमत अली ख़ाँ ने मुस्लिम लीग की मांग के तहत बनने वाले अलग राष्ट्र के लिए पाकिस्तान का नाम सुझाया। कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में पढ़े भारतीय मुस्लिम और नेशनल मुस्लिम मूवमेंट के संस्थापक रहमत अली चौधरी ने देश में मुस्लिम बहुल राज्याें के संघ का नाम पाकिस्तान सुझाया। 1935 – आइसलैंड गर्भपात को क़ानूनी स्वीकृति देने वाला पहला देश बना। 1939 – आयरिश कवि विलियम बटलर योटस का निधन। 1942 – जर्मनी की सेना ने लीबिया के बेंगाजी पर कब्जा किया। 1943 – एडोल्फ़ हिटलर ने जर्मनी के सभी युवकों को फ़ौज में जबरन भर्ती का आदेश दिया। 1945 – अमेरिकी ट्रकों का काफ़िला बर्मा रोड से पहली बार गुजरा। 1950 – न्यायाधीश हीरालाल कानिया ने उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश का पद सम्भाला। 1961 – एचएमटी घड़ियों की पहली फैक्ट्री की आधारशिला बेंगलुरु में रखी गयी। 1962 – अमेरिकी अंतरिक्ष यान चांद पर पहुँचने में असफल रहा। 1964 – दक्षिणी रोडेशिया में दंगे भड़के। 1986 – कैप कैनवरल फ़्लोरिडा से उड़ान भरने के बाद अमेरिकी अंतरिक्ष शटल ‘चैलेंजर’ में विस्फोट हुआ और सभी सात अंतरिक्ष यात्री मारे गए। 25वें अंतरिक्ष यान (51एल)- चैलेंजर 10 में उड़ान भरने के 73 सेकंड बाद ही विस्फोट हो गया। 1992 – अल्ज़ीरिया में तीन दशक तक सत्ता में रहने के बाद ‘नेशनल लिबरेशन फ़्रंट’ ने इस्तीफ़ा दिया। 1997 – चेचेन्या के विद्रोही नेता जनरल असलन मस्कादेपू काकेशियाई गणराज्य के राष्ट्रपति चुने गये। 1998 – ‘राजीव गांधी हत्याकांड’ में 26 अभियुक्तों को मृत्युदंड। 1999 – भारत में पहली बार संरक्षित भ्रूण से मेमने का जन्म। 2000 – अंडर -19 का युवा विश्वकप क्रिकेट के फ़ाइनल में भारत ने श्रीलंका को हराया। 2002 – झारखंड के गुमला ज़िले में बारूदी सुरंग विस्फोट से 9 पुलिसकर्मियों सहित 11 मारे गये। पाकिस्तान में आतंकवादी संगठन द्वारा एक अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल का अपहरण। 2003 – पश्चिम बंगाल के हावड़ा ज़िले में एक बस और तेल टैंकर में हुई भिड़न्त में 42 मरे व कई घायल हुए। 2005 – पुर्तग़ाल के सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई बम विस्फोट के अभियुक्त अबू सलेम के प्रत्यर्पण की इजाजत दी। 2006 – फ़्रांस की एमेली मास्को ने आस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस का महिला एकल ख़िताब जीता। 2008- निजी क्षेत्र की कंपनी ‘जिंदल पावर एंड स्टील लिमिटेड’ का लाभ बढ़ा। थाइलैंड की संसद ने दक्षिण पंथी समक सुंदरावेज को देश का प्रधानमंत्री निर्वाचित किया। 2010- बांग्लादेश के पूर्व राष्ट्रपति मुजीबुर्रहमान के 5 हत्यारों को फ़ांसी पर लटकाया गया। बंगलादेश के पूर्व राष्ट्रपति शेख मुजीबुर रहमान की हत्या के पांचों दोषियों को फाँसी दी गयी। 2013 – जॉन कैरी अमेरिका के विदेश मंत्री बने।

यह भी पढ़े  आज 1 दिसम्बर का इतिहास

28 जनवरी को जन्मे व्यक्ति

1865 – लाला लाजपत राय स्वतंत्रता सेनानी 1899 – के.एम. करिअप्पा – भारत के ‘प्रथम आर्मी कमाण्डर इन चीफ़’। 1909- सेना के ‘प्रथम भारतीय सेनाध्यक्ष’ ‘के.एस. करियप्पा’ का जन्म। 1926 – विद्यानिवास मिश्र – हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार, सफल सम्पादक, संस्कृत के प्रकाण्ड विद्वान् और जाने-माने भाषाविद। 1930 – पंडित जसराज – ‘भारतीय शास्त्रीय संगीत’ के विश्वविख्यात गायक 1937 – सुमन कल्याणपुर – पार्श्व गायिका 1918 – भगवत दयाल शर्मा – हरियाणा के भूतपूर्व मुख्यमंत्री तथा उड़ीसा और मध्य प्रदेश के भूतपूर्व राज्यपाल। 1913 – राजेन्द्र शाह- गुजराती साहित्यकार 1900 – के. एम. करिअप्सुमन कल्याणपुर पा – भारतीय सेना के प्रथम कमांडर-इन-चीफ। 1955 -निकोलस सर्कोजी – फ्रांस के राष्ट्रपति थे।

28 जनवरी को हुए निधन

2017 – भारती मुखर्जी – भारतीय मूल की प्रसिद्ध लेखिका थीं, जिन्होंने अमरीका में कई पुरस्कार जीते थे। 1984 – सोहराब मोदी – प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता तथा फ़िल्म निर्माता-निर्देशक। 1939 – आयरिश कवि ‘विलियम बटलर योटस’ का निधन। 2007 – ओ. पी. नैय्यर- प्रसिद्ध संगीतकार। 1996 – देवकान्त बरुआ – भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष थे।

यह भी पढ़े  आज 30 सितंबर 2019 का इतिहास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here