आज से मलमास समाप्त, 18 से बजेगी शहनाई

0
136

पटना – मलमास समाप्त होने के साथ ही 18 जून से वैवाहिक लग्न का शुभारंभ हो जाएगा। वैसे 13 जून से मलमास समाप्त होगा, लेकिन शुद्ध लग्न 18 जून से आरंभ होगा। कर्मकांड विशेषज्ञ पं. राकेश झा शास्त्री ने बताया कि प्रति 32 महीने और 16 दिनों के बाद मलमास आता है। इस वर्ष मई मई से शुरू हुआ मलमास 13 जून तक रहेगा। 13 जून को अधिक ज्येष्ठ मास पुरु षोत्तमी अमावस्या के साथ मध्य रात्रि 01.35 बजे के बाद मलमास समाप्त होगा। मास का शुद्धिकरण 14 जून को तथा 15 जून को षडशीति संक्रांति के बाद मांगलिक कार्य आरंभ होंगे। 18 जून को पहला लग्न है। इस दिन से शुभ कार्य आरंभ होंगे। उन्होंने बताया कि 23 जुलाई को हरिशयन एकादशी है। इस दिन से भगवान विष्णु शयन मुद्रा में चले जाते हैं। चार माह तक भगवान विष्णु के इसी मुद्रा में रहने के कारण इसे चतुर्मास कहा जाता है। चतुर्मास में विवाह या अन्य मांगलिक कार्य नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि इसके बाद 19 नवम्बर को देवोत्थान एकादशी (हरिप्रबोधनी एकादशी) से भगवान विष्णु निंद्रा से जागृत होंगे तब मांगलिक उत्सव आरंभ होंगे। चतुर्मास शिव, दुर्गा, लक्ष्मी, अन्नपूर्णा एवं सूर्य की पूजा-अर्चना होती है। मिथिला पंचांग के अनुसार जून-18 में विवाह मूहुर्त की तिथियां-18,20,21,22,23,24,25,27,28 और 29जुलाई-18 में-1,2,4,5,10,11 और 15बनारसी पंचांग के अनुसार जून-18 में विवाह मूहुर्त की तिथियां-18,19,20,21,23,25 और 27जुलाई-18 में-5,6,9,1011 और 16दिसम्बर-18 में-10,15 और 16

यह भी पढ़े  गुजरात में दो चरणों में 9 और 14 दिसंबर को मतदान, 18 को आएंगे नतीजे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here