आज से जलवायु परिवर्तन पर दो दिवसीय सम्मेलन : मोदी

0
71

बिहार में पहली बार आयोजित दो दिवसीय (24 व 25 जून) ‘‘ईस्ट इंडिया क्लाइमेट चेंज कॉन्क्लेव-2018’ में जलवायु परिवर्तन के प्रभाव व उससे निपटने के उपायों पर विस्तार से विचार-विमर्श किया जायेगा। जलवायु परिवर्तन इस सदी की सबसे बड़ी चुनौती के रूप में उभरकर सामने आया है।ज्ञान भवन में आयोजित कॉन्क्लेव का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे तथा विशिष्ठ अतिथि केन्द्रीय पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्षवर्धन होंगे। छत्तीसगढ़ के मंत्री महेश गागरा के अलावा प.बंगाल, उड़ीसा, झारखंड व असम के मंत्री, अधिकारी, अन्तरराष्ट्रीय स्तर के विशेषज्ञ, नीति निर्धारक व विभिन्न क्षेत्रों के हितधारक भाग ले रहे हैं। जलवायु पर्वितन का सबसे ज्यादा प्रभाव समाज के गरीब तबकों पर पड़ रहा है। श्री मोदी ने बताया कि जलवायु पर्वितन का सबसे ज्यादा प्रभाव समाज के गरीब तबकों पर पड़ रहा है। दो दिवसीय कॉन्क्लेव में जलवायु पर्वितन से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने की सक्षम कार्यपण्राली, बेहतर नीतियों व योजनाओं के निर्माण पर व्यापक विचार-विमर्श किया जायेगा। बिहार सहित पूर्वी भारत के अन्य राज्यों द्वारा ‘‘स्टेट एक्शनप्लान ऑन क्लाइमेट चेंज’ तैयार किया गया है। इसके अन्तर्गत कृषि, वन, जल संसाधन, आपदा प्रबंधन, नगर विकास, नगर परिवहन, उद्योग, ऊर्जा, स्वास्य आदि के लिए रणनीति बनाई गई है। दुनिया के देशों को जलवायु पर्वितन की चुनौतियों से मुकाबले के लिए ‘‘ग्रीन क्लाइमेट फंड’ बनाया गया है। बिहार ने भी 339.92 करोड़ का प्रस्ताव नाबार्ड के माध्यम से भारत सरकार को भेजा है। दो दिनों के सम्मेलन में अंत में सभी राज्यों की सहमति से ‘‘पटनाडिक्लेरेशन-2018’ घोषित होने की संभावना है।

यह भी पढ़े  फर्जी कंपनियों के जरिए कालेधन से सफेद करने को लेकर बड़ा खुलासा...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here