आज रक्षाबंधन पर अद्भुत योग, नहीं है भद्रा का साया, इस तरह सजाएं राखी की थाली!

0
57

आज स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन एकसाथ मनाया जा रहा है. स्वतंत्रता दिवस समारोह की शुरुआत जहां सुबह 7:30 बने प्रधानमंत्री मोदी के लाल किले पर भाषण से हुई, तो वहीं कुछ बहनें रक्षाबंधन की तैयारियों में व्यस्त हैं. इस बार रक्षाबंधन पर अद्भुत योग बन रहा है. ज्योतिष शास्त्रियों के मुताबिक़, ऐसा पहली बार है जब रक्षाबंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त लगभग 12 घंटे तक रहेगा. इस दौरान बहनें 12 घंटे के बीच में कभी भी अपने भाइयों को राखी बांध सकेंगी.

सबसे महत्वपूर्ण बात है कि इस बार रक्षाबंधन के शुभ मुहूर्त पर भद्रा का काला साया नहीं पड़ रहा है. इस बार भाई बहन के प्रेम का यह त्यौहार भद्रा दोष से मुक्त होगा. इस दिन रक्षाबंधन गुरुवार के दिन पड़ रहा है जिस कारण यह बहुत ही शुभ माना जा रहा है.

बहनें साल भर इस त्यौहार का बेसब्री से इन्तजार करती हैं कि कब वो अपने भाई की कलाइयों पर राखी की रेशमी डोर बांध सकें. साथ ही बहनें ईश्वर से भाई की दीर्घ आयु, सफलता और समृद्धि की कामना भी करती हैं. वहीं भाई अपने बहनों को यह वचन देते हैं कि वह हमेशा उनकी रक्षा करेंगे. जो भी बहनें अपने भाईयों से दूर रहती हैं वह कूरियर से अपने भाई को राखी भेजती हैं.

यह भी पढ़े  गया दुष्‍कर्म कांड पर गरमाई सियासत,RJD नेताओं पर पीड़िता की पहचान उजागर करने का केस दर्ज

राखी की थाली हो कुछ ऐसी
राखी की थाली सजाते समय रेशमी वस्त्र में केसर, सरसों, चंदन, चावल व दुर्वा रखकर भगवान की पूजा करनी चाहिए. राखी (रक्षा सूत्र) को भगवान शिव की प्रतिमा, तस्वीर या शिवलिंग पर अर्पित करें. फिर, महामृत्युंजय मंत्र का एक माला (108 बार) जप करें. इसके बाद देवाधिदेव शिव को अर्पित किया हुआ रक्षा-सूत्र भाईयों की कलाई पर बांधें. महाकाल भगवान शिव की कृपा, महामृत्युंजय मंत्र और श्रावण सोमवार के प्रभाव से सब शुभ होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here