आईसीसी विश्व कप 2019 के पहले सेमीफाइनल मैच में भारत और न्यूजीलैंड के बिच मैच जारी

0
96

आईसीसी विश्व कप के पहले सेमीफाइनल में भारत और न्यूजीलैंड की टीमें ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर आमने-सामने हैं. न्यूजीलैंड की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया है. बारिश की वजह से रुका खेल, 46.1 ओवर में बनें 211/5

खिताब की दौड़ में बने रहने के लिए दोनों ही टीमें एक-दूसरे को कड़ी टक्कर देंगी. खेल प्रेमियों के लिए मैनचेस्टर से अच्छी खबर यह है कि यहां सुबह के दौरान हल्की-फुल्की बारिश का जो अनुमान जताया गया था. फिलहाल उसके आसार नहीं नजर आर रहे हैं. मौसम का ताजा अपडेट यह है कि ओल्ड ट्रैफर्ड के मैदान पर हल्की-हल्की धूप खिली हुई है और बादल छिटपुट रूप में ही दिखाई दे रहे हैं. ऐसे में यहां फिलहाल बारिश के कोई आसार नहीं हैं.

न्यूजीलैंड 202/5 (45 ओवर)
45वें ओवर में भुवनेश्वर कुमार ने पहली ही गेंद पर रास टेलर को अंपायर से एलबीडब्ल्यू आउट कराया लेकिन टेलर रीव्यू में बच गए. इली ओवर में न्यूजीलैंड के 200 रन पूरे हुए. इसके बाद भुवी की ऑफ कटर स्लोअर बाउंसर पर कॉलिन डि ग्रैंडहोम धोनी को कैच देकर पवेलियन लौट गए. ग्रैंडहोम ने 16 रन बनाए. रॉस टेलर- 60 रन.  टॉम लाथम- 1 रन

भुवनेश्ववर कुमार ने अपने स्पेल के आठवें ओवर की छौथी गेंद पर न्यूज़ीलैंड के विस्फोटक बल्लेबाज़ कॉलिन डी ग्रैंडहोम का विकेट लेकर भारत को बड़ी सफलता दिलाई है. ग्रैंडहोम ने 10 गेंदों पर 16 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में 2 चौके भी जड़े. ग्रैंडहोम के बाद अब टॉम लैथम बल्लेबाज़ी के लिए आए हैं. 45 ओवर में न्यूज़ीलैंड ने 202 रन बना लिए हैं.

41वें और में गेंदबाज़ी करने आए हार्दिक पांड्या ने टीम इंडिया को चौथी सफलता दिला दी है. पांड्या ने 12 रन पर बल्लेबाज़ी कर रहे नीशम को दिनेश कार्तिक के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेज दिया है. नीशम के जाने के बाद अब कॉलिन डी ग्रैंडहोम बल्लेबाज़ी के लिए आए हैं. टेलर 42 रन पर नॉट आउट हैं. 42 ओवर के बाद न्यूज़ीलैंड का स्कोर 170/4 है.

यह भी पढ़े  आसाराम के खिलाफ रेप केस में फैसला , दोषी करार , जानिए कब क्या हुआ

36वें ओवर की दूसरी गेंद पर युजवेंद्र चहल को अपना पहला विकेट मिला है. विरोधी कप्तान केन विवियमसन 67 रन बनाकर पवेलियन लौट गए हैं. उन्होंने अपना पारी में 95 गेंदों का सामना किया, जिसमें सिर्फ दो चौके लगाए. रॉस टेलर अभी भी 52 गेंदों पर 25 रन बनाकर क्रीज़ पर डटे हुए हैं. टेलर का साथ देने के लिए अब जेम्स नीशम आए हैं. 36 ओवर में न्यूज़ीलैंड का स्कोर 136/3 है.

भारत को दूसरी सफलता मिली गई है. रवींद्र जडेजा ने खतरनाक हो रहे हेनरी निकोलस को पवेलियन भेज दिया है. हेनरी ने अपनी पारी में 51 गेंदों पर दो चौके के साथ 28 रन बनाए हैं. न्यूज़ीलैंड का स्कोर इस वक्त 19 ओवर में 71 रन हो गया है, लेकिन उसने अपने दो बड़े विकेट गवा दिए हैं. निकोलस के बाद अब न्यूज़ीलैंड के अनुभवी बल्लेबाज़ रॉस टेलर बल्लेबाज़ी के लिए आए हैं.

अगर सेमीफाइनल मैच के दौरान बारिश हो जाती है तो भी टीम इंडिया फाइनल में पहुंच जाएगी. प्वाइंट टेबल में नंबर एक पर काबिज टीम इंडिया इस समय बेहद मजबूत नजर आ रही है. वहीं, न्यूजीलैंड की टीम को भी कम नहीं आंका जा सकता है. अगर टीम इंडिया को इस मैच में जीत हासिल करना है तो विराट ब्रिगेड को न्यूजीलैंड की तिकड़ी से पार पाना होगा. ये तीन खिलाड़ी हैं, लॉकी फर्ग्यूसन, ट्रेंट बोल्ट और जिमी नीशाम. इन तीनों खिलाड़ियों ने अपनी गेंद की धार से पूरे वर्ल्ड कप में बल्लेबाजों को परेशान किया है.

भारत की ‘विराट’ बल्लेबाजी अगर इस तिकड़ी से बच जाती है या इसका डटकर सामना करने में सफल रहती है तो वर्ल्ड कप के फाइनल का टिकट समझो पक्का है. न्यूजीलैंड की इस तिकड़ी में दो लेफ्ट आर्म एक्सप्रेस गेंदबाज हैं. बोल्ट 440 वोल्ट का भी करंट मार सकते हैं. इस टूर्नामेंट में बोल्ट के नाम 15 विकेट हैं. निशाम इतने ही खूंखार हैं. इस टूर्नामेंट में अबतक वो 11 विकेट ले चुके हैं. इनका औसत भी सिर्फ 18 का है और इकोनॉमी महज 5 की. इन दो से बचे तो लॉकी फर्ग्यूसन अपनी जाल में फंसाने के लिए तैयार रहते हैं. डेथ ओवरों में लॉकी फर्ग्यूसन का कोई सानी नहीं.

यह भी पढ़े  बाढ़ में अनंत सिंह के घर छापा एके 47 व विस्फोटक बरामद,FIR दर्ज, हो सकते हैं गिरफ्तार

वो तो न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने आखिरी तीन मैचों में खराब खेल का प्रदर्शन किया, नहीं तो एक वक्त तो ये टीम टेबल टॉप करती दिख रही थी. सीधा सा मतलब है, न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों पर 50 में से 30 ओवरों तक जबरदस्त प्रेशर रह सकता है. इसके लिए पहले से ही प्लान तैयार करना होगा.

भारत को शुरू से खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था वहीं कीवी टीम पर भी शुरू से ही सभी की नजरें थी। बड़े टूर्नामेंट में अधिकतर न्यूजीलैंड ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और इस बार भी वो सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही है। एक समय तो वह अंकतालिका में पहले स्थान पर थी। बाद में कुछ मैचों में हार के बाद उसे लीग दौर का अंत चौथे स्थान पर रहकर करना पड़ा।

पहले सेमीफाइनल में हालांकि कीवी टीम को भारत के खिलाफ अपनी पूरी ताकत से खेलना होगा क्योंकि भारतीय टीम बेहतरीन फॉर्म में है और उसे सिर्फ एक मैच में ही हार का सामना करना पड़ा है वो भी बर्मिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ जब वह 300 से ज्यादा के लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई थी। हां, सवाल एक बार फिर यही है कि क्या विकेट बल्लेबाजों के लिए स्वर्ग है?

फिर भी यहां मंगलवार को बारिश की भविष्यवाणी है। हो सकता है कि यहां हल्की फुल्की बारिश हो लेकिन ऐसी स्थिति में कीवी टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी खतरनाक हो जाता है। ट्रेंट बाउल्ट, लॉकी फग्र्यूसन, टिम साउदी और कोलिन डी ग्रांडहोम ऐसी स्थिति में किसी भी बल्लेबाजी को परेशान कर सकते हैं।

कीवी टीम के लिए हालांकि फग्र्यूसन की फिटनेस चर्चा का विषय है। टीम को हालांकि विश्वास है कि वह फिट हो जाएंगे लेकिन फिर भी फैसला मैच के दिन ही लिया जाएगा। कप्तान केन विलियम्सन ने खुले दौर पर स्वीकार किया है कि वह फग्र्यूसन पर काफी विश्वास करते हैं।

यह भी पढ़े  7 जुलाई को प्रारंभ हो जाएगा बिहटा ईएसआई अस्पताल:गंगवार

वहीं विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम चाहेगी कि आसमान साफ रहे। टीम ने अपनी बल्लेबाजी को लेकर चिंता सार्वजनिक नहीं की है लेकिन साफ तौर पर देखा गया है कि कोहली, रोहित शर्मा और लोकेश राहुल से सज्जित शीर्ष क्रम ने ही भारत के लिए रन किए हैं और जब मध्य क्रम के टीम को संभालने की बारी आई तो वह असफल रहा।

रोहित ने इस टूर्नामेंट में आठ पारियों में 647 रन बनाए हैं और पांच शतक लगाए हैं। उनके बाद कप्तान कोहली का नंबर है जिन्होंने पाच अर्धशतक के साथ 447 रन बनाए हैं। तीसरे नंबर पर राहुल हैं जिनके नाम 360 रन हैं। दिलचस्प बात यह है कि इस सूची में अगला नाम महेंद्र सिंह धोनी का है जिन्होंने 223 रन बनाए हैं।

यह साफ है कि जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार और भारतीय स्पिनरों ने दम दिखाया है लेकिन मध्य क्रम को आगे आना होगा।

श्रीलंका के खिलाफ खेले गए पिछले मैच में टीम ने स्पिन में कुलदीप यादव और रवींद्र जडेजा पर भरोसा दिखाया था। अब देखना होगा कि क्या टीम प्रबंधन इसी संयोजन के साथ जाता है या इसमें बदलाव करता है।

इस मैच में हालांकि काफी कुछ विकेट और मौसम पर भी निर्भर है। अगर बादल छाते हैं तो हो सकता है कि भारत सिर्फ एक स्पिनर के साथ खेले और मयंक अग्रवाल को शामिल कर अपनी बल्लेबाजी मजबूत करे।

टीमें (संभावित) :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), जसप्रीत बुमराह, युजवेंद्र चहल, ऋषभ पंत, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, लोकेश राहुल, मोहम्मद शमी, रोहित शर्मा, कुलदीप यादव।

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), टॉम ब्लंडल, ट्रेंट बोल्ट, कोलिन डी ग्रांडहोम, लॉकी फग्र्यूसन, मार्टिन गुप्टिल, टॉम लाथम, कोलिन मनुरो, जिमी नीशम, हेनरी निकोलस, मिशेल सैंटनर, ईश सोढी, टिम साउदी, रॉस टेलर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here