आंगनबाड़ी कर्मियों का बढ़ेगा मानदेय, प्रस्ताव कैबिनेट को, इधर दीवाली पर माध्यमिक शिक्षकों को बकाया वेतन देने का आदेश

0
164
पटना : बिहार में आंगनबाड़ी सेविका और सहायिकाओं का मानदेय बढ़ाने का प्रस्ताव कैबिनेट की मंजूरी के लिए भेज दिया गया है. वहां से मंजूरी के बाद यह लागू हो जायेगा और एक अक्टूबर 2018 से देय होगा. बिहार में इसका फायदा करीब 92,000 आंगनबाड़ी कर्मियों को मिलने लगेगा. केंद्र सरकार ने इस वर्ष 11 सितंबर को देश भर के आंगनबाड़ी कर्मियों का मानदेय बढ़ाने की घोषणा की थी. आंगनबाड़ी कर्मियों के मानदेय में केंद्र सरकार 60% और राज्य सरकार 40% वहन करती है. साथ ही राज्य सरकार अलग से भत्ता भी देती है.
समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इससे पहले केंद्र सरकार ने देश भर के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय में केंद्र के हिस्से में बढ़ोतरी करते हुए आंगनबाड़ी सेविकाओं का मानदेय 2250 रुपये से बढ़ाकर 3500 रुपये व आंगनबाड़ी सहायिकाओं को 1500 रुपये के स्थान पर 2250 रुपये कर दिया था.
 
सीएम ने की थी मांग 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 17 जून, 2018 को दिल्ली में नीति आयोग की बैठक में केंद्र से आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका और मिड डे मील बनानेवाली रसोइयों के मानदेय में वृद्धि की मांग की थी. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं करने से राज्य सरकारों को विरोध का सामना करना पड़ता है.
क्या करती हैं आंगनबाड़ी सेविका और सहायिकाएं
आंगनबाड़ी सेविकाओं और सहायिकाओं काे उनके क्षेत्र में कई जिम्मेदारियां दी गयी हैं. सभी परिवारों के नियमित रूप से त्वरित सर्वेक्षण, पूर्व स्कूल की गतिविधियों का आयोजन करने, बच्चों को विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं को स्तनपान कराने के लिए स्वास्थ्य और पोषण शिक्षा प्रदान करने आदि को बढ़ावा देना शामिल है.
इसके अलावा परिवार नियोजन, बच्चे के विकास और विकास के बारे में माता-पिता को शिक्षित करना, किशोरी शक्ति योजना (केएसवाई) के क्रियान्वयन और सामाजिक जागरूकता कार्यक्रमों आदि के आयोजन द्वारा किशोर लड़कियां और माता-पिता को शिक्षित करने में सहायता करना, बच्चों में विकलांगों की पहचान करना शामिल है.
दीवाली पर माध्यमिक शिक्षकों को बकाया वेतन देने का आदेश
पटना : राज्य के माध्यमिक सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को दीपावली के मौके पर बकाया वेतन का भुगतान करने का आदेश शिक्षा विभाग ने सभी जिलों को दिया है. इसके लिए 16 करोड़ 72 लाख 25 हजार रुपये जारी कर दिये गये हैं.
साथ ही सभी जिलों को इन रुपये को शिक्षकों के बैंक खातों में तुरंत ट्रांसफर करने के लिए भी कहा गया है. शिक्षकों के लिए अगस्त महीने तक का बकाया वेतन जारी कर दिया गया है. शेष माह का वेतन जल्द ही जारी किया जायेगा. इसमें अधिकतर वे शिक्षक हैं, जो राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन के अंतर्गत कार्यरत हैं.
यह भी पढ़े  राज्य मंत्रिपरिषद ने वित्त रहित शिक्षकों के लिए 337 करोड़ रुपये स्वीकृत किये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here