अरे भाई कॉफी मिलेगी क्या?’ :प्रधानमंत्री

0
13

मोदी की इसी अदा की तो जनता कायल है। जहां जी करता है, वहां लोगों से एक अलग अंदाज में वह रू-ब-रू होते हैं और बन बैठते हैं एक आम इंसान। प्रधानमंत्री के लिबास में इतर शिमला की ठंडी वादियों में मोदी खुद को गर्मागर्म कॉफी की चुस्कियों को लेने की तलब से वह रोक नहीं पाए। करीब दो दशक पुराने शिमला के पसंदीदा स्थान कॉफी हाउस से उठती कॉफी की खुशबू ज्यों ही उन्हें महसूस हुई, मोदी ने काफिले को रोक दिया। रोड शो को ठहरा दिया व तमाम भीड़ के बीच उतर गए। जोर से आवाज दी कि ‘अरे भाई कॉफी मिलेगी क्या?’ जैसे ही मोदी ने कॉफी के लिए आवाज लगाई शेफ नंबर एक भागीरथ दौड़कर कॉफी लाए और मोदी को दी। साधारण व्यक्ति की तरह ही सड़क पर ही मोदी ने काफी पी। चार मिनट तक मोदी काफी हाउस के बाहर रुक कर कॉफी का आनंद लिया। इस दौरान उन्होंने शिमला में बिताए पलों को याद किया। कहा, ‘मैं जब शिमला में था तो अक्सर यहां पर कॉफी पिया करता था। आज वह यादें तरोताजा हो गईं। उन दिनों की सारी बातें याद आ गई। इंडियन कॉफी हाऊस में बिताए पल याद आ गए।’

यह भी पढ़े  हरियाणा में निवेशकों का भरपूर ख्याल रखा गया है:मनोहर लाल खट्टर

कॉफी खत्म कर मोदी ने शेफ भागीरथ को धन्यवाद कहा और गाड़ी में बैठ कर आगे निकल गए। इस दौरान लोगों का जमावड़ा यहां पर लग गया। लोग मोदी की एक झलक पाने के लिए लालायित दिखे। कई लोगों ने इस पल को कैमरे में कैद कर लिया। मोदी जब 1998 में हिमाचल भाजपा प्रभारी थे तो अक्सर यहां कॉफी पीने आते थे।1शिमला में भाजपा सरकार की ताजपोशी के लिए पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लौटते समय मालरोड स्थित इंडियन कॉफी हाउस में कुछ देर के लिए रुके और कॉफी की चुस्कियां लीं।4शिमला में पसंदीदा स्थान इंडियन कॉफी हाउस के पास अचानक रोक दिया काफिला4रोड शो रोककर प्रधानमंत्री मोदी ने इंडियन कॉफी हाउस में पी कॉफीशिमला में बुधवार को हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान लोगों का अभिवादन स्वीकार करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here