अररिया पर दावा पेश करने की तैयारी में लोजपा

0
346

संगठन को एनडीए के उम्मीदवार को जीत दिलाने के लिए राज्य के हर जिले में मजबूत किया जा रहा है। जिसे जहां हिस्सेदारी मिलेगी वह वहीं से चुनाव लड़ेगा। एनडीए के शेष दल का सांगठनिक ढांचा उम्मीदवार को जिताने में लगेगा :प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस  

पटना :लोक जनशक्ति पार्टी अररिया की लोकसभा सीट पर दावेदारी पेश करने की तैयारी में है। लोजपा के रणनीतिकारों की मानें तो अररिया बिहार में उनके हिस्से की लोकसभा की सातवीं सीट होगी। तर्क दिया जा रहा है कि गत लोकसभा चुनाव में एनडीए के हिस्सेदार के रूप में उसे सात सीटें मिली थीं। इनमें हाजीपुर, समस्तीपुर, नालंदा, खगड़िया, जमुई, वैशली व मुंगेर की सीटें शामिल थीं। इनमें नालंदा को छोड़कर शेष सभी पर उसे जीत मिली थी। नालंदा में जदयू के कौशलेन्द्र कुमार ने लोजपा के डॉ. सत्यानंद शर्मा को मात्र 9,623 मतों से हराया था। जानकारी के अनुसार जदयू के एनडीए में शामिल होने के बाद इस सीट पर सीटिंग -गेटिंग के तहत जदयू का दावा बनता है। ऐसे में लोजपा ने अपनी सांतवी सीट के लिए अररिया लोकसभा सीट पर दावा पेश करने का मन बनाया है। लोजपा का तर्क है कि वर्ष 2009 में लोजपा ने अररिया में बेहतर प्रदर्शन करते हुए लगभग 2,60,240 मत हासिल किये थे। तब भाजपा केप्रदीप कुमार को 2,82,739 मत मिले थे। हालांकि अररिया सीट पर वर्ष 2004 एवं 2009 में मिली जीत के कारण भाजपा का भी दावा बनता है। पर, 2014 में भाजपा को राजद के उम्मीदवार के खिलाफकरारी हार मिली थी। राजद के तस्लीमुद्दीन को 4,07,975 मत मिले थे जबकि भाजपा के प्रदीप कुमार को मात्र 2,61,470 मत मिले थे। लोजपा के भीतरखाने चल रही र्चचा की मानें तो अररिया को लेकर पार्टी अभी से एनडीए में दबाव बना रही है। इस लिहाजन अररिया के सांगठनिक ढांचा को भी मजबूत किया जा रहा है। हालांकि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस का कहना है कि संगठन को एनडीए के उम्मीदवार को जीत दिलाने के लिए राज्य के हर जिले में मजबूत किया जा रहा है। जिसे जहां हिस्सेदारी मिलेगी वह वहीं से चुनाव लड़ेगा। एनडीए के शेष दल का सांगठनिक ढांचा उम्मीदवार को जिताने में लगेगा।

यह भी पढ़े  बरौनी कारखाने के पुनरुद्धार से विकास को मिलेगी गति : पारस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here